क्या भारतीय मूल का ऋषि बिट्रेन पर करेगा राज, पहले राउंड की वोटिंग में मिली यह कामयाबी

ख़बर शेयर करें

लंदन एजेंसी एसकेटी डॉट कॉम

क्या इतिहास दोहराया जा सकेगा. ढाई सौ वर्ष तक अंग्रेजों ने भारत पर राज किया. अब क्या भारत बंसी ब्रिटेन की हुकूमत अपने हाथों में ले पाएगा

इंग्लैंड के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के सत्ता से बाहर होने के बाद प्रधानमंत्री बनने के लिए ब्रिटेन में कंजरवेटिव पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवारों के प्रारंभिक रायशुमारी शुरू हो गई है नामांकन के बाद एलिमिनेशन दौर मैं भारतीय मूल के ऋषि सुनक 25% वोट के साथ सबसे आगे हैं बृहस्पतिवार को दूसरे दौर के वोटिंग के बाद अगर सांसदों ने उनके पक्ष में मतदान कर दिया तो वह कंजरवेटिव पार्टी के प्रधानमंत्री पद के दावेदार हो जाएंगे .

अपनी पत्नी अक्षिता एवं पुत्र और पुत्री के साथ ऋषि

ब्रिटेन के नये प्रधानमंत्री का चुनाव पांच सितंबर को किया जाएगा और वह संसद में प्रधानमंत्री के समक्ष आरंभिक प्रश्नों का सामना सात सितंबर को करेंगे। बृहस्पतिवार को दूसरे चरण के मतदान के बाद चरणबद्ध तरीके से अंतिम दो उम्मीदवारों का चयन किया जाएगा।

जिसके बाद पार्टी के नेता का ऐलान होगा।के प्रधानमंत्री पद की रेस में पहले राउंड की वोटिंग के बाद ऋषि सुनक शीर्ष पर काबिज है। सुनक के अलावा पांच अन्य दावेदार भी पहले राउंड में जीत हासिल करने में कामयाब रहे। सुनक को 88 वोट मिले, जबकि दूसरे स्थान पर काबिज वाणिज्य मंत्री पेनी मोर्डंट से 67 मत मिले। विदेश मंत्री लिज ट्रूस 50 वोटों के साथ तीसरे स्थान पर थीं। पहले चरण की वोटिंग में पूर्व कैबिनेट मंत्री केमी बडेनोच को 40, बैकबेंचर टॉम तुगेंदत को 37 और अटॉर्नी जनरल सुएला ब्रेवरमैन को 32 वोट मिले हैं।

अब गुरुवार को इन नेताओं के बीच दूसरे राउंड की वोटिंग होगी, जिसके बाद दो उम्मीदवारों को चुना जाएगा।बीच, वर्तमान चांसलर नादिम जाहावी और पूर्व कैबिनेट मंत्री जेरेमी हंट पहले दौर के मतदान के बाद नेतृत्व की दौड़ से हट गए हैं। वे लोग अगले चरण में जगह बनाने के लिए आवश्यक 30 वोट हासिल करने में विफल रहे। उन्हें क्रमश: 25 और 18 वोट मिले।

अपने ससुर नारायणमूर्ति एवं साहस के साथ ऋषि और उसकी पत्नी अक्षता

हालांकि सुनक ने अपने टोरी संसदीय सहयोगियों के बीच एक स्थिर बढ़त बनाए रखी है, लेकिन कंजर्वेटिव पार्टी की सदस्यता का आधार पेनी मोर्डंट के पक्ष में दिखाई देता है। मतपत्र के जरिए अपने पसंदीदा उम्मीदवार को चुनने के लिए संसद के 358 कंजर्वेटिव सदस्यों की ओर से मतदान का अगला दौर बृहस्पतिवार को निर्धारित है।

ब्रिटेन के नये प्रधानमंत्री का चुनाव पांच सितंबर को किया जाएगा और वह संसद में प्रधानमंत्री के समक्ष आरंभिक प्रश्नों का सामना सात सितंबर को करेंगे। बृहस्पतिवार को दूसरे चरण के मतदान के बाद चरणबद्ध तरीके से अंतिम दो उम्मीदवारों का चयन किया जाएगा। जिसके बाद पार्टी के नेता का ऐलान होगा। इसके बाद ही नेता को ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री पद की शपथ दिलवाई जाएगी। तब तक बोरिस जॉनसन कार्यवाहक प्रधानमंत्री बने रहेंगे।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.