उत्तराखंड-किशोरी को भगाकर ले गया दूसरे समुदाय का युवक, लोगों ने थाने में जमकर की नारेबाजी

ख़बर शेयर करें



चकराता से मुस्लिम युवक द्वारा हिंदू किशोरी को भगा ले जाने का मामला सामने आया है। इस मामले के सामने आने के बाद से स्थानीय लोगों में आक्रोश है। गुरूवार को आक्रोशित लोगों ने चकराता थाने में पुलिस-प्रशासन के विरुद्ध जमकर नारेबाजी करते हुए आरोपी को गिरफ्तार करने की मांग की है।

Ad
Ad


मुस्लिम युवक द्वारा हिंदू किशोरी को भगा ले जाने के मामले में परिजनों ने पुलिस को आरोपित के खिलाफ नामजद तहरीर दी है। पुलिस ने किशोरी को बरामद कर लिया है। लेकिन युवक को अब तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। परिजनों ने तहरीर में बताया है कि मंगलवार को उनकी 14 वर्षीय बेटी को चकराता के डाकरा-मोहना निवासी आरोपित साहिल खान भगा ले गया।

यौन शोषण करने के भी लगे आरोप
परिजनों ने साहिल खान पर आरोप लगाए हैं कि वो लंबे समय से उनकी नाबालिग बेटी के साथ यौन शोषण कर रहा है। जिसके बाद वो उसे भगा ले गया। इस घटना के बारे में पता चलते ही चकराता के लोग थाने में पहुंचे और आरोपी को गिरफ्तार करने की मांग की। इस दौरान लोगों ने जमकर नारेबाजी भी की।

किशोरी को भगाने में आरोपित के स्वजन भी शामिल
किशोरी के परिजनों ने कहा है कि उनकी बेटी को भगाने में आरोपी के परिजन भी शामिल हैं। उन्होंने कहा है कि आरोपित ने एक मिशन के तहत किशोरी को भगाया है। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने किशोरी को बरामद कर लिया है जबकि आरोपी अब भी फरार है।

थाने के बाहर प्रदर्शन कर रहे स्थानीय लोगों ने हिंदू समाज की बेटियों व महिलाओं की सुरक्षा के लिए उचित कदम उठाने की पुलिस से मांग की है। उनका कहना है कि कई मुस्लिम युवक अपनी पहचान छिपाकर हिंदू लड़कियों को निशाना बना रहा है। लोगों ने माहौल बिगाड़ने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।