उत्तराखंड -यहां इकलौते बेटे की स्कूटी दिलाने की मांग नहीं हुई पूरी, लगाई फांसी ,मौत

Ad
ख़बर शेयर करें

बच्चे अपनी जिद को पूरा करने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं लेकिन आजकल के समय में बच्चे अपनी जिद को पूरा करने के लिए अपनी जान की भी परवाह नहीं कर रहे हैं एक ऐसा मामला राज्य के श्रीनगर के न्यू डांग इलाके से सामने आता है यहां पर कक्षा नौ के छात्र ने घरवालों से स्कूटी दिलाने की मांग की लेकिन परिवार वालों ने मना करने पर कक्षा नौ के छात्र ने आत्मघाती कदम उठा लिया और फांसी लगाकर अपनी जान दे दी।

जिसके बाद से परिवार में कोहराम मच गया है जानकारी के मुताबिक न्यू डांग निवासी प्रदीप भंडारी का 15 वर्षीय बेटा दिव्यांशु नवी कक्षा में पढ़ता था और वह कई दिन से स्कूटी दिलाने की जिद कर रहा था। उसकी जिद के चलते परिजनों ने जब उसे डांटा तो उसने घर के दूसरे कमरे में जाकर फांसी लगा ली। परिजनों ने जब कमरा खोल कर देखा तो उनके होश उड़ गए जब तक परिजन उसे अस्पताल ले जाते उससे पहले ही उसकी मौत हो गई.

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *