उत्तराखंड -यहां चुनाव के दौरान खुलेआम लहराए तमंचे, हुई फायरिंग ,लोगों में दहशत

ख़बर शेयर करें

उत्तराखंड जो कि एक शांत वातावरण वाला राज्य करता था लेकिन यहां पर अब खुलेआम तमंचा लहराए जा रहे हैं और फायरिंग की आवाजें भी सामने आनी शुरू हो गई है कहा जा सकता है कि उत्तराखंड में भी अब गुंडाराज होना शुरू हो गया है जहां यूपी एक समय में गुंडाराज के लिए जाना जाता था वहां पर अब गुंडाराज खत्म होने की कगार पर है तो वहीं उत्तराखंड में अब गुंडाराज शुरू हो चुका है और इस गुंडाराज के वजह से उत्तराखंड में कानून व्यवस्था सवालों के घेरे में है। हालात ये हैं कि चुनावों के मौसम में भी खुलेआम तमंचे लहराए जा रहें हैं फायरिंग की जा रही है। और वो भी राज्य के मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र में।वाक्या उधम सिंह नगर के खटीमा का है। यहां 13 फरवरी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खासा वायरल हो रहा है। जानकारी के अनुसार खटीमा के सत्रह मील के इलाके का ये वीडियो है। इस वीडियो में एक शख्स हाथ में एक तमंचा लिए हुए खुलेआम घूम रहा है। यही नहीं, वीडियो में फायरिंग की आवाज भी सुनाई दे रही है।


बताया जा रहा है कि चुनावी रंजिश में ये पूरा घटनाक्रम हुआ है। बताया जा रहा है कि घटना के दौरान कुल तीन युवक थे जिसमें से दो स्थानीय लोगों के डर से भाग गए जबकि एक शख्स पकड़ में आ गया। लोगों ने उसपर काबू करने की कोशिश की तो वो तमंचे से डराने लगा।इस वीडियो में एक पुलिसकर्मी भी दिख रहा है। हालांकि वो निहत्था है तमंचा लिए शख्स के पास जाने से लोगों को रोकने की कोशिश कर रहा है।इस घटना के बाद में स्थानीय लोगों ने घटना के विरोध में पुलिस थाने का घेरा भी किया है। लोगों का आरोप है कि आरोपी शख्स की गोली से एक युवक घायल है। घायल युवक के परिजन भी धरने पर बैठ गए हैं। लोग पुलिस की भूमिका पर सवाल उठा रहें हैं।


चुनावों के दौरान जहां एक ओर लोगों के लाइसेंसी असलहे भी थानों में जमा हो जाते हैं। वहीं पुलिस लगातार चेकिंग करने का दावा भी करती है। इसके बावजूद खुलेआम इस तरह से तमंचा लहराना और लोगों को डराना कैसे संभव हो पाया ये पुलिस को बताना होगा।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.