यहां भूस्खलन की वजह सके हुई मुसीबत, कई गांवों का संपर्क कटा

ख़बर शेयर करें



चमोली के देवाल खेता सुयालकोट में बिन बारिश हो रहा भूस्खलन लोगों के लिए परेशानी का सबब बन गया है। हालात ये हैं कि लगातार हो रहा भूस्खलन से 15 के करीब गांवों का संपर्क राज्य के अन्य हिस्सों से कट गया है।


लगातार हो रहा भूस्खलन
उत्तराखंड के पहाड़ों में रहने वालों की पीड़ा कब खत्म होगी ये कोई नहीं जानता। कभी बारिश से आया मलबा आशियाने बहा ले जाता है तो कभी भूस्खलन मुसीबत का सबब बन जाता है। ऐसा ही कुछ हो रहा है चमोली के देवाल खेता सुयालकोट मार्ग पर। इस मार्ग से लगी पहाड़ी पर बिना बारिश के लगातार हो रहा भूस्खलन इस इलाके में रहने वाले लोगों के लिए परेशानी लेकर आया है।

हालात ये हैं कि रह रह कर हो रहे भूस्खलन के चलते पूरा मार्ग बाधित हो रहा है। मार्ग बाधित होने के चलते लगभग 15 के करीब गांवों का राज्य के अन्य हिस्सों से संपर्क टूट गया है। ऐसे में गांवों में आने जाने वालों को दिक्कते हो रहीं हैं तो वहीं जरूरी सामानों की आपूर्ति भी प्रभावित हुई है। हाल ही में एक वाहन इस भूस्खलन की चपेट में आ गया हालांकि गनीमत रही कि वाहन में सवार लोग पहले ही वाहन से बाहर आ गए थे।


सड़क टूटी, नदी में गिरी
वहीं पीएमजीएसवाई के अधिकारियों के लिए भी इस भूस्खलन में रोड को रिस्टोर करना एक बड़ा काम हो गया है क्योंकि भूस्खलन के चलते सड़क का एक हिस्सा पूरी तरह से टूट गया है और नदी में समा गया है। ऐसे में पहाड़ी को काटकर नए सिरे से सड़क निकालनी होगी।

अधिकारियों की माने तो भूस्खलन रुकने के बाद ही सड़क निर्माण शुरु हो सकता है। ऐसे में गांव वालों को अभी कुछ दिन और इंतजार करना पड़ सकता है। हालांकि स्थानीय प्रशासनिक अधिकारी गांव मेें जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति के लिए वैकल्पिक व्यवस्था पर काम कर रहें हैं।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.