हल्द्वानी की इस कंपनी ने हड़पे पौने चार करोड़ निदेशक पंत एवं कांडपाल क़े खिलाफ मुक़दमा दर्ज

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

विदित अक्षत विजन निधि लिमिटेड ने अच्छे ब्याज का सब्जबाग दिखाकर बैंकों की तर्ज पर कई स्क्रीम में चला कर लोगों के करीब पौने चार करोड़ रूपया हड़प कर कंपनी ने अपने निवेशकों को एक भी ढेला नहीं दिया.

लोगों के दबाव के बीच जब कंपनी ने इन लोगों को चेक दिए तो वह सभी चेक बाउंस हो गए कमोला निवासी हरीश चंद्र बधानी और मोहनचंद सती समेत 4 लोगों ने तहरीर देकर पुलिस से न्याय की गुहार की.

एसएसपी पंकज भट्ट ने बताया कि मामले की प्राथमिक जांच के बाद मुकदमा दर्ज कर लिया गया है कंपनी के निदेशक अरविंद पंत और कंपनी के मुख्य कर्ताधर्ता रहे योगेश कुमार कांडपाल के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया गया है. बताया जाता है कि कंपनी का संस्थापक निदेशक अरविंद पंत काफी शातिर दिमाग का माना जाता है उसके साथ काम करने वाला योगेश कुमार कांडपाल भी उसी तरह का शातिर है इन्होंने कई लोगों को अच्छे ब्याज का लालच देकर लोगों के करोड़ों रुपए हड़प लिए है.

ऐसे मामले पिछले दो-तीन वर्षों से सामने आ रहे थे लेकिन यह लोगों को इस तरह से ऐसे ब्लैकमेल कर रहे थे कि अगर आपने शिकायत कर दी तो कंपनी बंद हो जाएगी और आपके पैसे भी डूब जाएंगे जिसकी वजह से लोग इनकी कभी शिकायत नहीं करते थे. ऐसा ही एक मामला 1 वर्ष पूर्व एक समाचार पत्र के सामने भी आया था मामला अगर होने की दर से उन्होंने उस दिन शिकायत करने वाले लोगों के पैसे वापस कर दिए थे जिसके बाद शिकायत करने वालों ने पैसे मिलने के बाद समाचार न छापने की गुजारिश की थी.

जिसके बाद एक बार फिर उठा ओखल कांडा के लोगों ने इस तरह का एक ज्ञापन क्षेत्रीय विधायक राम सिंह कैड़ा को भी सौंपा था. लेकिन इसके बावजूद भी लोगों के पैसे वापस नहीं किए गए. अब लोगों ने मजबूर होकर पुलिस में शिकायत कराई.

इतना ही नहीं योगेश कुमार कांडपाल और अरविंद पंत ने इस तरह की कई कंपनियां बागेश्वर जिले में भी संचालित की हुई है जहां सीधे-साधे ग्रामीणों को अधिक ब्याज का लोभ देकर उनके पैसे हड़पे पर जाने की खबर है और इस मामले में एक मुकदमा भी बागेश्वर में दर्ज हुआ है.

निवेशकों की ओर से बताया गया कि शातिर दिमाग के अरविंद पंत और योगेश कुमार कांडपाल ने अलग-अलग नामों से कई कंपनियां चलाई हुई है वह सब इसी काम में लगी रहती है इनमें विजन सोशल सोसायटी, अतुल विजन वेलफेयर सोसाइटी अपूर्व कुमाऊं सदस्य विकास निधि लिमिटेड एराइज गैलेक्सी हल्द्वानी के नाम से भी कंपनियां चलाई जा रही है शिकायत कर्ताओं ने यह भी बताएं कि बागेश्वर थाने में भी धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज हो चुका है वहां करीब 4 करोड़ रुपए की धनराशि ग्रामीणों से हड़प ली गई है लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है

जिन लोगों के धनराशि हड़पी है उनमें मुख्य रूप से चंपा बिष्ट 45 लाख, पुष्पा बिष्ट 11 लाख, गीता फर्त्याल सात लाख मोहनचंद सती 10 लाख, सरोज केड़ा 12 लाख , आनंद सिंह 20 लाख कांता मेहरा 6 लाख, भगवती नयाल 5 लाख, मीरा गिनती 8 लाख, घनानंद बेलवाल 10 लाख शोभा गोस्वामी 13 लाख सोनी बिष्ट 10 लाख ममता बोरा 4 लाख गोपाल गुणवंत 20 लाख, हेमा बधानी 34 लाख भगवती नयाल 5 लाख शामिल है.

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.