शिक्षा विभाग अजब गजब- अध्यापिका अपने स्थान पर दूसरी टीचर को रख कर खुद हो गई गायब विभाग ने की यह कार्रवाई

ख़बर शेयर करें

पौड़ी एसकेटी डॉट कॉम

उत्तराखंड में शिक्षा विभाग के रोज अजीबो गरीब किस्से सामने आते रहते हैं। कही तो टीचर छात्राओं के साथ छेड़खानी करता हुआ पकड़ा जाता है कहीं फर्जी प्रमाण पत्रों के जरिए नौकरी करते हुए सेवानिवृत्त के कगार पर आ जाते हैं अब तो एक ऐसा मामला आया है की अध्यापिका अपने स्थान पर दूसरी टीचर को स्कूल में पढ़ाने की जिम्मेदारी देकर खुद ही गायब हो जाती है। इसके अलावा कई ऐसे मामले होते हैं जो मीडिया की पहुंच से दूर होने के चलते विभाग द्वारा दबा दिए जाते हैं।

इस बार पौड़ी के एकेश्वर ब्लॉक के एक स्कूल में अध्यापिका खुद तो गायब हो गई और अपने खर्चे पर दूसरी टीचर को स्कूल में पढ़ाने की जिम्मेदारी दी गई ग्रामीणों द्वारा इसकी शिकायत की गई तो जब जांच की गई तो वास्तव में द्रोपदी नाम की यह टीचर स्कूल से कई दिनों से गायब मिली उसकी जगह उसके द्वारा रखी गई टीचर बच्चों को पढ़ा रही थी।

जानकारी के मुताबिक एक बार फिर पौड़ी जिले के ऐकेश्वर ब्लॉक में फिर से लापरवाही का मामला आया है। जहां विद्यालय की प्रधानाध्यापिका खुद की स्कूल से गायब रही और अपने बदले किसी और टीचर को बच्चों को पढ़ाने के लिए रख गई। जिसे सेवा के प्रति गंभीर लापरवाही का मामला मानते हुए सीईओ डॉ आनंद भारद्वाज ने निलंबित करने का आदेश दे दिया और निलंबित प्रधानाध्यापिका को बीइओ कार्यालय के ऐकेश्वर सबद्ध किया है।
दरअसल ग्रामीणों की शिकायत पर एकेश्वर बुसरा के ग्रामीणों की शिकायत पर विद्यालय में जब निरीक्षण किया गया तो प्रधानाध्यापिका द्रोपति बिना बताए स्कूल से नदारद मिली, यही नहीं विद्यालय से नदारद होने के साथ-साथ उन्होंने अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए स्कूल में अपने खर्चे पर एक दूसरी टीचर को रखा हुआ है जिसके बाद सीईओ प्रभारी डीईओ बेसिक डॉक्टर आनंद भारद्वाज ने प्रधानाध्यापिका को निलंबित कर दिया है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.