विदेशी युवक ने लालच में फाँसा लालकुआ की महिला को, 16 लाख झटके अब खा रहा है जेल की हवा

ख़बर शेयर करें

लालकुंआ एसकेटी डॉट कॉम

फेसबुक के माध्यम से दोस्ती अब लूटने का साधन बन चुकी है। विदेशों में रह रहे लोग हिंदुस्तान के सीधे साधे या यह कहें यहां की लालची महिलाओं को अपने जाल में फंसा कर लूट रहे हैं। ऐसा ही एक मामला हल्द्वानी के नजदीक लाल कुआं का है जहां की एक महिला अपने फेसबुक फ्रेंड के द्वारा ठगी गई और उसके द्वारा विदेश से भेजे गए एक पार्सल को छुड़ाने के बहाने उससे अलग-अलग नंबरों से फोन करके 1600000 रुपए विभिन्न खातों में डलवा दिए। इसके बाद महिला ने लाल कुआं थाने में शिकायत दर्ज कराई जिसके बाद आरोपी युवक को बाहरी दिल्ली के चंदन विहार से गिरफ्तार कर लिया गया है।

लालकुआं का है जहां फेसबुक में दोस्ती कर लालकुआं की महिला से करीब 16 लाख रुपये की धोखाधड़ी हो गई। इसकी शिकायत महिला ने पुलिस से की तो पुलिस ने अफ्रीका के नागरिक को गिरफ्तार किया है। जिसके बाद पुलिस ने विदेशी युवक पर मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेज दिया है।

जानकारी के अनुसार पिछले माह राजीव नगर बंगाली कालोनी निवासी शीला चतुर्वेदी पत्नी दीपक कुमार ने कोतवाली में तहरीर देते हुए कहा कि फेसबुक पर उसकी क्रिस ईडन नामक युवक से दोस्ती हुई। सात अक्टूबर को उसके पास फोन आया। एक युवक ने अपने को दिल्ली एयरपोर्ट का कर्मचारी बताते हुए लंदन से पार्सल आने की जानकारी दी। बताया कि पार्सल 45 लाख रुपये का है। इस कारण कस्टम विभाग ने उसे पकड़ लिया है। महिला को उसके फेसबुक मित्र ने उपहार भेजे जाने की जानकारी दी। फोन करने वाले ने उससे पार्सल छुड़ाने के लिए 95 हजार रुपये भेजने को कहा।

जिसके बाद महिला ने उसके बताए अकाउंट में पैसे भेज दिए। फिर दूसरे नंबर से फोन कर इनकम टैक्स की कार्यवाही के नाम पर डरा कर साढ़े चार लाख रुपये की डिमांड की गई। महिला ने जेवरात गिरवी रखकर फिर से पैसे भेज दिए। इस तरह महिला से करीब 16 लाख रुपये की धोखाधड़ी की। महिला ने रसीद की जांच की तो वह फर्जी पाई गई। जिसके बाद महिला ने क्रिस ईडन नामक व्यक्ति व एक अन्य अज्ञात महिला के विरुद्ध तहरीर दी।

लालकुआं पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मूल रूप से वेस्ट अफ्रीका के आवोरियन निवासी करीम कोन पुत्र जेरीगोवे सोवन्डे को उसके हाल निवास चंदन बिहार, बाहरी नई दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया है। जिसके पास से धोखाधड़ी में प्रयुक्त मोबाइल, लैपटाप, 10 सिम कार्ड, दो बैंक पासबुक, पासपोर्ट, एटीएम कार्ड भी बरामद किए है। पूछताछ में पता चला कि विदेशी युवक वर्ष 2017 से भारत में रह रहा था। वह स्टडी वीजा लेकर भारत आया था। इस मामले में एक अज्ञात महिला की संलिप्तता की भी जांच की जा रही है। इसके अलावा आरोपी के खातों को सीज करने के साथ जिन खातों में पैसा ट्रांसफर किया गया उनकी भी जांच की जा रही है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.