सुशीला तिवारी अस्पताल में भगवान भरोसे मरीज, लावारिस हालत में मिली महिला हुई गायब

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

सुशीला तिवारी अस्पताल मैं मरीज राम भरोसे से रह रहे हैं यहां के कर्मचारियों डॉक्टरों अधीनस्थ लोगों को यह पता नहीं चलता है कि उनके वार्ड में भर्ती मरीज आखिरी चला कहां गया डिस्चार्ज नहीं होने के बाद भी अगर और मरीज गायब हो जा रहा है रूप से माना जाएगा कि अस्पताल प्रशासन में का कार्य करने वाले लोग बेहद लापरवाही रहे हैं.

ऐसा ही एक मामला लाल कुआं से आया जहां सामाजिक कार्यकर्ता प्रकाश उत्तराखंडी और उनके अन्य साथियों ने एक लावारिस हालत में मिली महिला को लाल कुआं स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया उसके बाद उसके बाद उसे सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहा से 26 जुलाई को वह गायब बताई जा रही है

लालकुआं वीआईपी गेट के पास नेशनल हाईवे पर डिवाइडर पर लावारिस हालत में मिली महिला को अस्पताल में भर्ती करवाने वाले समाजसेवियों ने शनिवार को बुद्ध पार्क में प्रदर्शन कर महिला को ढूंढने और दोषी अस्पताल स्टाफ के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।उत्तराखंड बेरोजगार संगठन के प्रदेश अध्यक्ष प्रकाश उत्तराखंडी ने बताया कि 22 जुलाई को जब महिला लावारिस हालत में मिली थी तब उसके सिर पर कीड़े पड़े थे। कुछ लोगों की मदद से महिला को तत्काल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लाकर उपचार दिया गया था। जिसके बाद 108 की मदद से महिला को सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन 26 जुलाई को महिला अचानक अपने बैड से लापता हो गई। उन्होंने बताया कि मामले में 28 जुलाई को सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन देकर कार्रवाई की मांग की गई लेकिन अब तक महिला का कुछ पता नहीं चल सका है। जानकारी में आया है कि महिला मुरादाबाद की रहने वाली है, जिसके माता-पिता को भी अवगत कराया गया है।

Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.