ट्रिपल मर्डर से सनसनी, सरकारी क्वार्टर में महिला कांस्टेबल, उसकी मां औ बेटी की हत्या, 2 दिन तक कमरे में ही पड़ा रहा शव

ख़बर शेयर करें

Ssp Prabhat Kumar

झारखंड के जमशेदपुर से सनसनीखेज मामला सामने आया है. जमशेदपुर पुलिस लाइन में कर्मचारियों के लिए बने क्वार्टर से एक महिला कांस्टेबल, उसकी मां और बेटी के शव मिले हैं. जमशेदपुर एसएसपी प्रभात कुमार ने बताया कि महिला कांस्टेबल पिछले दो दिनों से नजर नहीं आ रही थी. घर का दरवाजा बाहर से बंद था. मौके पर फॉरेंसिक टीम जांच कर रही है. पुलिस टीम भी जांच-पड़ताल में जुटी है. किसी प्रकार के हथियार नहीं मिले हैं, लेकिन तीनों के शरीर पर जिस तरह से चोट के निशान पाए गए हैं, उससे हत्या से इनकार नहीं किया जा सकता है.

बता दें, जमशेदपुर के गोलमुरी में पुलिस लाइन स्थित है. यहीं पर पुलिसकर्मियों के सरकारी आवास बने हुए हैं, जिसमें वो लोग रहते हैं. इसी में से एक आवास में महिला कांस्टेबल सविता रानी हेम्ब्रम, उसकी मां लाखिया हेम्ब्रम और बेटी गीता हेम्ब्रम रहते थे. दो दिन से सविता रानी बिना बताए ड्यूटी पर नहीं आ रही थी. उसकी कुछ साथियों ने फोन मिलाया, लेकिन फोन नहीं उठा. थाना पुलिस को जब संदेह हुआ तो पुलिस मौके पर उसके सरकारी आवास पर पहुंची.

दरवाजा तोड़कर अंदर घुसी पुलिस

घर का दरवाजा बाहर से बंद था. पुलिस दरवाजा तोड़कर जब अंदर घुसी तो अंदर का नाराज देखकर दंग रह गई. महिला कांस्टेबल सविता रानी हेम्ब्रम, उसकी मां लाखिया हेम्ब्रम और बेटी गीता हेम्ब्रम के शव पड़े थे. पुलिस ने आनन-फानन में इसकी सूचना SSP प्रभात कुमार को दी. सूचना पर SSP प्रभात कुमार फॉरेंसिक टीम के साथ मौके पहुंच गए. पुलिस टीमें और फॉरेंसिक टीम शवों को कब्जे में लेकर जांच-पड़ताल में जुट गईं.

SSP ने दी घटना की जानकारी

मीडिया से बातचीत में SSP प्रभात कुमार ने बताया कि प्रथम दृष्टया मामला हत्या का लग रहा है, क्योंकि घर का दरवाजा बाहर से बंद था. किसी ने इन तीनों की हत्या की और फिर दरवाजा बाहर से बंद कर भाग गया. फिलहाल फॉरेंसिक और पुलिस टीम जांच में जुटी है. SSP प्रभात कुमार ने बताया कि ये भी जानकारी मिली है कि दो दिनों से महिला कांस्टेबल घर से बाहर नहीं निकली थीं. घर बाहर से बंद था. इसी को देखते हुए यह संदेह जताया जा रहा है कि किसी ने तीनों की हत्या कर दी है. हालांकि घटनास्थल से किसी प्रकार के हथियार नहीं मिले हैं, लेकिन तीनों के शरीर पर जिस तरह से चोट के निशान पाए गए हैं, उससे हत्या से इनकार नहीं किया जा सकता है.

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.