यहां ट्रैकर की मौत, एक को बचाया

ख़बर शेयर करें



केदारनाथ रांसी ट्रैक पर एक ट्रैकर की मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि अत्यधिक ठंड की वजह से इस ट्रैकर की मौत हो गई है। हालांकि इसी बीच उसके साथी ट्रैकर को SDRF ने बचा लिया है। ये दोनों ही ट्रैकर अपने दल को छोड़कर महापंथ में टेंट लगाकर रुके हुए थे।


दरअसल 2 अक्तूबर को पश्चिम बंगाल के 10 ट्रैकर का दल रांसी गांव से केदारनाथ के लिए रवाना हुआ था। दल में 8 पुरुष और 2 महिलाएं थीं। इनमें से 8 लोगों का दल उसी दिन देर रात में केदारनाथ पहुंच गया लेकिन दो लोग नहीं लौटे। वो दोनों चलने में असमर्थ थे लिहाजा उन्होंने महापंथ में ही टेंट लगा लिया। इसके बाद वो लापता हो गए।


साथी ट्रैकरों ने उनके न लौटने पर पुलिक को सूचना दी। इसके बाद सोमवार को NDRF और SDRF को तलाश के लिए भेजा गया। एसडीआरएफ और एनडीआरएफ के दस जवान छह पोर्टलों और दो गाइड के साथ केदारनाथ से इन ट्रैकर्स को तलाशने के लिए पहुंचे। दोपहर के बाद ये बचाव दल महापंथ पहुंचा तो उसे वहां टेंट लगा हुआ मिला। दल के लोग टेंट में गए तो वहां एक ट्रैकर मृत अवस्था में मिला जबकि एक अन्य बुरी तरह घायल था।


बचाव दल ने घायल ट्रैकर को तत्काल प्राथमिक उपचार दिया और उसे लेकर नीचे की ओर आए। रात तकरीबन दस बजे के आसपास उसे केदारनाथ पहुंचा दिया गया। इसके बाद उसे अस्पताल में एडमिट कराया गया है। घायल ट्रैकर बेहद ठंड की वजह से बुरी हालत में था। वहीं मृतक ट्रैकर का शव वापल लाया जा रहा है।

मृतक ट्रैकर की शिनाख्त आलोक विश्वास (34) पुत्र बाबुल विश्वास, निवासी सगुना, पश्चिम बंगाल, के रूप में हुई है। जबकि घायल विक्रम मजूमदार (38) पुत्र विमान मजूमदार, 24 परगना, पश्निम बंगाल है।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.