यहां पुलिस और अधिवक्ता के बीच कहासुनी का मामला पहुंचा मुकदमे बाजी तक, आगे क्या हुआ पढ़े खबर

ख़बर शेयर करें


लालकुआं कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत पुलिस और अधिवक्ता के बीच हुई कहासुनी का मामला मुकदमे बाजी तक पहुंच गया गौरतलब है कि यहां पूर्वी घोड़ानाला क्षेत्र में तीन पक्षों का जमीनी विवाद चल रहा था जिसमें से एक पक्ष धन सिंह डंगवाल हाल निवासी भोपाल ने अपनी जमीन दूसरे पक्ष बिंदुखत्ता निवासी जगत सिंह धानिक को बेची गई थी वहीं दूसरी तरफ तीसरे पक्ष लाल सिंह का भी उक्त जमीन का मामला कोर्ट में चल रहा था।

पुलिस को धन सिंह डंगवाल द्वारा कोतवाली पुलिस को शिकायती पत्र दिया गया था जिसके दृष्टिगत मौके पर पहुंचकर पुलिस द्वारा जांच पड़ताल की जा रही थी तभी वहां लाल सिंह बोरा के अधिवक्ता S D जोशी भी मौके पर पहुंच गए इस दौरान उनका पुलिस से उक्त प्रकरण की जानकारी साझा करने को लेकर कहासुनी हो गई मामला बढ़ा तो धक्का-मुक्की भी शुरू हो गई घटना की गंभीरता देख पुलिस अधिवक्ता को कोतवाली ले आई जिनके विरुद्ध जांच पड़ताल कर सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत करने की कार्यवाही अमल में लाई जा रही है।

वही मामले की सूचना सुनते ही क्षेत्र के अन्य वकील व कई वरिष्ठ कम्युनिस्ट नेता भी मौके पर आ गए। मामले को बढ़ता देख कोतवाल संजय कुमार ने सभी पक्षों की बात सुनी और आवश्यक कार्यवाही का भरोसा देते हुए कोतवाली में एकत्रित एक दर्जन भीड़ को वापस भेज दिया हालांकि बाहर भीड़ एकत्र हो रही थी जिसके बाद पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए सभी को कोतवाली परिसर से बाहर कर दिया।

इधर एसएसआई बलवंत सिंह कंबोज ने जानकारी देते हुए बताया कि धन सिंह डंगवाल द्वारा कोतवाली पुलिस एवं पुलिस उच्चाधिकारियों को प्रेषित उक्त जमीनी विवाद के संबंध में एक शिकायती पत्र दिया गया था जिसकी जांच हेतु बिंदुखत्ता चौकी प्रभारी मनोज चौधरी मौके पर गए थे इस दौरान वहां कुछ लोगों ने उनसे बदतमीजी कर दी जिसके विरुद्ध आवश्यक कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है।

इधर चौकी प्रभारी मनोज चौधरी द्वारा भी अधिवक्ता के विरुद्ध सरकारी कार्य में बाधा डालने व पुलिस कर्मियों से मारपीट संबंधित मुकदमा दर्ज कराने की कार्यवाही की जा रही है। वहीं वकील SD जोशी के पुत्र मनोज जोशी ने भी कोतवाली में शिकायती पत्र देते हुए मनोज चौधरी पर आरोप लगाया है कि उनके द्वारा वकील और ग्रामीणों से अभद्रता की गई है उन्होंने उचित कार्यवाही की मांग की है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.