किसानों के सत्याग्रह के आगे नही टिका केंद्र सरकार का घमंड :बलूटिया

Ad
ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉटकॉम
कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता दीपक बल्यूटिया ने केंद्र सरकार द्वारा तीनोंंंंंंं कृषि कानूनों को मजबूरी में वापस लेने पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि किसानों के सत्याग्रह के आगे केंद्र सरकार का घमंड भी टूट गया यह केंद्र सरकार पर किसानों की सत्याग्रह का एक तमाचा है ।

महात्मा गांधी के बताए गए अहिंसात्मक रास्ते पर चलते हुए देश केे अन्नदाता नी केंद्र की सरकार को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया । आज देश का किसान गर्व से सीना तान के कह रहााााा है कि उसके अ निर्णय तथा आंदोलन के कारण केंद्र की सरकार को तीनों कानून वापस लेने के लिए बाध्य होना पड़ा लेकिन इसके लिए किसानों की शहादत को याद रखा जाना जरूरी है देश के सैकड़ों किसानों ने अपनी शहादत के बल पर इन कृषि कानूनों को वापस करवाया है ।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से तीनों कृषि कानूनों की वापसी का ऐलान पर किसान भाइयों को बधाई देते हुए कहा कि कुछ चहेतों की तिजोरी भरने के लिए बनाए तीन काले क़ानूनों को आँखिरकार सरकार को किसानों के एक साल से चल रहे भारी विरोध के चलते वापस लेने की घोषणा करनी पढ़ी।

अपने चहेतों की तिजोरी भरने को आतुर सरकार की हटधर्मिता के चलते 750 से अधिक किसानों को अपनी जान गवाँनी पढ़ी। यदि सरकार समय रहते निर्णय ले लेती तो एक साल से धरने पर डटे किसानों व देश का नुकसान नही होता।


सरकार को चाहिए कि अन्नदाता किसान भाइयों के साँथ खुली वार्ता कर किसानों की समस्याओं का समाधान कर मजबूत कृषि योजना बनाकर देश को आर्थिक गति प्रदान करे।
दीपक बल्यूटिया ने कहा आगामी 4 राज्यों में विधान सभा चुनाव में हार की डर से सरकार को मजबूरन बैकफुट पर आना पढ़ा है जिसे देश की भली भाँति समझ चुकी है और आगामी चुनाव में हिसाब चुकता करेगी।
750 से अधिक शहीद हुए किसानों की शहादत को हमेशा याद रखा जाएगा ।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *