हिस्ट्रीशीटर ने जाहिर की शौच की इच्छा तो कांस्टेबल ने कर डाला ये काम, हो गया सस्पेंड

ख़बर शेयर करें

बीती रात को बुहाना थाने से एक हिस्ट्रीशीटर कांस्टेबल पर हमला कर खुद भी भाग गया और अपने साथी को भगा ले गया. पुलिस ने इस मामले में टीमें लगातार दोनों की तलाश शुरू कर दी है. वहीं, लापरवाही बरतने पर कांस्टेबल को एसपी प्रदीप मोहन शर्मा ने निलंबित कर दिया है. जानकारी के मुताबिक बुहाना थाने का हिस्ट्रीशीटर भिर्र निवासी वीरेंद्र उर्फ बिंदर तथा उसका साथी आदतन बदमाश भिर्र निवासी संजय मारपीट के एक मामले में हवालात में बंद थे.

बीती रात को हिस्ट्रीशीटर वीरेंद्र उर्फ बिंदर ने शौच की इच्छा जाहिर की तो ड्यूटी पर तैनात कांस्टेबल विजय गुर्जर ने हवालात खोलकर वीरेंद्र उर्फ बिंदर को निकाला और वापिस जब हवालात का गेट बंदकर ताला लगाने लगा तो वीरेंद्र उर्फ बिंदर ने विजय गुर्जर को लात मारकर गिरा दिया. फिर फिल्मी स्टाइल में खुद और अपने साथी संजय को भगा ले गया. घटना की जानकारी मिलते ही बुहाना डीएसपी मुकेश चौधरी तथा सीआई महेंद्र चौधरी पहुंचे, जिन्होंने नाकाबंदी करवाई और अलग-अलग टीमें बनाकर संदिग्ध ठिकानों पर दबिश दी, लेकिन दोनों ही बदमाश अभी तक पुलिस गिरफ्त से दूर है. इधर, मामले में प्रारंभिक तौर पर कांस्टेबल विजय गुर्जर की लापरवाही पर उसे सस्पेंड कर लाइन भेज दिया गया है, तो एसपी ने मामले की जांच चिड़ावा डीएसपी सुरेश शर्मा को दी है.

दोनों को कोर्ट में पेश करना था
सीआई महेंद्र चौधरी ने बताया कि चार-पांच दिन पहले एक व्यक्ति से मारपीट के मामले में दोनों को गिरफ्तार किया गया था. दोनों को कोर्ट ने पुलिस रिमांड पर दे रखा था. इनमें से संजय को मंगलवार को वापिस रिमांड अवधि पूरी होने पर कोर्ट में पेश करना था. वहीं, वीरेंद्र उर्फ बिंदर को बुधवार को पेश करना था. सूत्रों की मानें वीरेंद्र पर शराब तस्करी, मारपीट और जानलेवा हमले के विभिन्न थानों और धाराओं में 16 के करीब मुकदमे दर्ज है, तो वहीं संजय के खिलाफ विभिन्न धाराओं और थाने में सात मुकदमे दर्ज है.

लापरवाही ऐसी कि गेट ड्यूटी छोड़ गया था हवालात के पास
हिस्ट्रीशीटर वीरेंद्र उर्फ बिंदर तथा बदमाश संजय आदतन है. उन्हें थाने की गतिविधियों का भी पता ही था. थाने की लापरवाही यह थी कि उन्होंने हवालात के लिए अलग से जवान लगाने की बजाय मुख्य दरवाजे के जवान के भरोसे ही हवालात छोड़ रखा था. जानकारी के मुताबिक कांस्टेबल विजय गुर्जर की ड्यूटी गेट पर थी. जब वीरेंद्र उर्फ बिंदर ने शौच करवाने की बात कही तो विजय गुर्जर ही गेट की ड्यूटी छोड़कर हवालात के पास पहुंचा और बिंदर को बाहर निकाला तभी यह घटना हो गई.

एसपी शर्मा भी पहुंचे बुहाना थाने
मामले की बाद एसपी प्रदीप मोहन शर्मा भी बुहाना थाने पहुंचे. उन्होंने बुहाना डीएसपी मुकेश चौधरी तथा बुहाना सीआई महेंद्र चौधरी से सारे मामले की जानकारी ली. इसके अलावा लापरवाही पर कांस्टेबल को निलंबित करने के अलावा टीमें बनाकर आरोपियों को ढूंढने के निर्देश दिए.

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.