नितिन हत्याकांड में इतने दिनों बाद भी पुलिस के खुलासा नहीं किए जाने पर लोगों द्वारा किया कोतवाली का घेराव

ख़बर शेयर करें

नितिन हत्याकांड का 6 दिनों बाद भी खुलासा न किए जाने से आक्रोशित नितिन के परिजनों तथा ग्रामीणों ने रामनगर कोतवाली का घेराव कर प्रदर्शन किया तथा आरोपियों को गिरफ्तार कर उन पर दफा 302 लगाए जाने की मांग की।

इस दौरान पुलिस अधिकारियों व ग्रामीणों में तीखी नोकझोंक भी हुई।

नितिन के पिता सुभाष चन्द्र ने कहा कि विगत 16 अक्टूबर को नितिन की हत्या के मामले को लेकर मेरे द्वारा रामनगर कोतवाली में एफ आई आर दर्ज करवाई गई थी। इस मामले में पुलिस ने अभी तक मात्र एक ही व्यक्ति को गिरफ्तार किया है जबकि अन्य आरोपी अभी तक खुले घूम रहे हैं तथा समझौते का दबाव बना रहे हैं।

नितिन के परिजनों ने कहा कि एक तरफ पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट अभी नहीं आई है वहीं दूसरी तरफ पुलिस करंट से मृत्यु होने का बयान देकर गुमराह कर रही है।

पुलिस द्वारा इस मामले में दफा 304 व 506 दर्ज की गई है जबकि यह मामला गैर इरादतन हत्या का नहीं है बल्कि धमकी देने के बाद हत्या किए जाने का है। नितिन की लाश जिस नाले में मिली है उसकी दूरी घटनास्थल से लगभग 500 मीटर की है। एक व्यक्ति 500 मीटर तक लाश को अकेले नहीं ले जा सकता है। इससे भी स्पष्ट है कि इस मामले में कई लोग शामिल हैं। मृतक नितिन के शरीर पर गंभीर चोटों के निशान भी थे।

मालधन चौकी पुलिस की अभी तक की कार्यशैली से ऐसा लगता है कि नितिन की हत्या की निष्पक्ष जांच को लेकर पुलिस गंभीर नहीं है।

ग्रामीणों ने पुलिस को 3 दिन का समय देते हुए कहा कि यदि 3 दिन के भीतर पोस्टमार्टम रिपोर्ट हासिल कर आरोपियों के खिलाफ कठोर कानूनी कार्रवाई नहीं की जाती है तो मालधन क्षेत्र की जनता कोतवाली पर धरना-प्रदर्शन व आंदोलन करने के लिए विवश होगी।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.