हाफ मैराथन में लिया नशे से दूर रहने का संकल्प

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

नशे से दूर रहने के लिए युवाओं को प्रेरित करने के लिए हाफ मैराथन का आयोजन किया गया । इस मैराथन के माध्यम से देवभूमि जन चेतना मंच ने युवाओं के सामने देश के दो वरिष्ठ हॉकी खिलाड़ियों ओलंपियन राजेंद्र सिंह रावत दीपक ठाकुर वह बलजीत सिंह के माध्यम से यह दर्शाने का प्रयास किया कि खेलों से जुड़े रहोगे तो देश भर में ख्याति हासिल करोगे अगर नशे की ओर जाओगे तो एक दिन यह अमूल्य जीवन को गवा बैठोगे इसके अलावा कई अन्य विशिष्ट व्यक्तियों की मौजूदगी से युवाओं ने नशे से दूर रहने का संकल्प लिया ।

जस गोंविन स्कूल में संपन्न हुई कुमाऊं हाफ मैराथन में 15 किलोमीटर में विजेता रहे दर्शन सिंह जी,द्वितीय हरीश नेगी जी,तृतीय आनंद सिंह जी रहे।
महिला वर्ग में प्रथम लक्ष्मी जी,द्वितीय एकता जी और तृतीय मनीषा जी रही।
7 किलोमीटर में पुरुष वर्ग में दीपक भट्ट जी,हिमांशु पडलिया जी और प्रकाश भट्ट जी,प्रथम द्वितीय और तृतीय स्थान पर रहे जबकि महिला वर्ग में आशा बिष्ठ जी,रिया बधानी जी, तुलसी बिष्ठ जी क्रमश प्रथम,द्वितीय और तृतीय स्थान पर रहे।


2 किलोमीटर संदेश रैली दौड़ में बालक वर्ग में शुभ मास्टर आदित्य,मास्टर पारस जोशी,मास्टर ध्रव जोशी प्रथम,द्वितीय और तृतीय रहे जबकि बालिका वर्ग में खुशी,पायल और प्रियानशी प्रथम, द्वितीय और तृतीय रहे।
लगभग ढाई हजार(2500) युवाओं ने नशे के खिलाफ इस रैली में भाग लिया।


आज नशे के खिलाफ कुमायूं हाफ मैराथन में अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी अर्जुन अवार्डी दीपक ठाकुर बलजीत सिंह ,ओलम्पियन आर एस रावत जी,IAS प्रतीक जैन ,डॉ नीलाम्बर भट्ट ,पुलिस अधीक्षक जगदीश चन्द्र ,कोतवाल अरुण सैनी ने वन्दे मातरम गान कर सुभारम्भ किया।
इस अवसर पर अर्जुन अवार्डी दीपक ठाकुर ने युवाओं से नशे से दूर रहने का संकल्प लेने का आह्वान किया।उन्होंने युवाओं से खेलो की तरफ रुझान बढ़ाने का आह्वान किया।
ठाकुर जी ने कहा की अभिभावकों को भी बच्चो पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है जिस से परिवार नशे से बच्चो को दूर रख रखे।
इस अवसर पर जॉइंट मजिस्ट्रेट नैनीताल आई ए एस प्रतीक जैन ने बच्चो को संबोधित करते हुए कहा की आज नशा (Nasha ) एक ऐसी बुराई है जो परिवारों को जड़ से खत्म कर दे रही हैं। नशे की चपेट में आकर युवा नष्ट हो जाते हैं जिस से देश का भविष्य पर संकट उत्पन्न हो सकता है।


इस अवसर पर वरिष्ठ चिकित्सक डॉ नीलाम्बर भट्ट ने कहा की परिवार की प्राथमिकता है कि वो अपने बच्चो की संगति पर नजर रखें। वो उनके व्यवहार में आने वाले बदलावों को नज़र अंदाज़ न करें।युवाओ को अपने रोल मॉडल्स सोच समझ कर बनाने होंगे और सिनेमा के प्रभाव से बचने के लिए अन्य मनोरंजन के साधनों को ज्यादा अपनाना होगा।
युवाओ को खेलकूद में ज्यादा से ज्यादा भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करना होगा। जिससे उनमें तनाव से लड़ने की इच्छा शक्ति प्रबल हो सके।


इस अवसर पर अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी बलजीत सिंह ने कहा की समाज को भी अपने कर्तव्य को अच्छे से समझना होगा। अगर समाज मे कोई ऐसी गैरकानूनी गतिविधि होती हैं तो पूरे समाज को उसके खिलाफ मिलकर लड़ना होगा। अकेले सरकार या प्रशासन इससे निपटने के लिए पर्याप्त नहीं हैं।


इस अवसर पर ओलंपियन राजेन्द्र रावत ने कहा की बच्चो में पढ़ने की आदत का विकास करना चाहिए। बाल अवस्था से ही उन्हें स्कूल पाठ्यक्रम से अलग कुछ अच्छी किताबे जरूर पढ़ने के लिए कहे। और युवाओ को भी दिन का कुछ न कुछ समय पढ़ने में अवश्य देना चाहिए।
इस अवसर पर पॉलिस अधीक्षक जगदीश चंद्र ने कहा की परिवार में बड़े लोगो से आहवान किया की जागरूकता के साथ बच्चो का साथ दे। वो ध्यान रखे कि घर मे बच्चो के सामने नशे से संबंधित कोई गतिविधि न करें।इस अवसर पर मंच का संचालन प्रभाकर जोशी और गौरव जोशी ने किया।
मैराथन परमवीर पम्मा की देखरेख में सम्पन्न हुई।मैराथन ज्यूरी में ममता पाठक विक्रम चिलवाल ,मनमोहन बसेड़ा , मंजू कांडपाल जी,जितेंद्र पाठक जी प्रमुख रूप से रहे।
नेब से आए बच्चों ने गणेश वंदना प्रस्तुत की।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.