कैंची धाम के आस-पास के जंगलों में लगी आग, ग्रामीणों में मचा हड़कंप

ख़बर शेयर करें



प्रदेश में बढ़ती गर्मी के साथ ही जंगलों में आग की घटनाएं एक बार फिर से बढ़ने लगी हैं। जंगलों की आग एक बार फिर से विकराल रूप लेने लगी है। मंगलवार को शाम करीब चार बजे भवाली-अल्मोड़ा हाईवे पर कैंची मंदिर से रातीघाट मार्ग की ओर हरतपा से लगी नाप भूमि के जंगल में अचानक आग लग गई। तेज हवाओं के कारण आग ने विकराल रूप ले लिया। आग लगने से स्थानीय लोगों में हड़कंप मच गया।

Ad
Ad


मंगलवार शाम को भवाली-अल्मोड़ा हाईवे पर कैंची मंदिर के आस-पास के इलाकों में आग लग गई। तेजी से फैल रही आग की तेज लपटों को देख आस-पास के गांवों के लोगों में दहशत फैल गई। तेज हवाओं के चलते आग मंदिर की ओर पहाड़ी पर स्थित आबादी क्षेत्र की ओर बढ़ गई। ग्रामीणों ने आग को बढ़ता देख इसकी जानकारी वन विभाग को दी। सूचना पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और आग को बुझाने में जुट गई। दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका।

समय पर आग पर पा लिया गया काबू
स्थानीय लोगों का कहना है कि समय रहते आग पर काबू पा लिया गया। वरना आग जितनी तेजी से फैल रही थी वो कुछ ही समय में कैंची मंदिर की ओर पहुंच सकती थी। वन बीट अधिकारी प्रेम के मुताबिक मंगलवार की दोपहर बाद नाप भूमि पर आग लगने की जानकारी उन्हें मिली थी। जिसके बाद वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और आग को फैलने से पहले ही बुझा दिया गया। उन्होंने बताया कि जहां आग लगी थी वो जगह कैंची मंदिर से दूर थी।

आग से मंदिर को नहीं पहुंचा कोई नुकसान
मिली जानकारी के मुताबिक आग लगने के कारण मंदिर की ओर कोई नुकसान नहीं हुआ है। निगलाट के ग्राम प्रधान पंकज निगल्टिया का कहना है कि आग और आग से उठे धुंए के कारण स्थानीय लोगों के साथ ही कैंची धाम आने वाले श्रद्धालुओं को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है