चारधाम यात्रा में स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव में 29 श्रद्धालुओं की मौत सरकार और उत्तराखंड के लिए एक बड़ा कलंक-सुमित हृदयेश

ख़बर शेयर करें

चारधाम यात्रा मार्ग में स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव के चलते अब तक 29 श्रद्धालुओं की मौत हो चुकी है, जिसके बाद अब राज्य सरकार की कार्यप्रणाली और व्यवस्थाओं पर सवाल खड़े होने शुरू हो गए है। श्रद्धालुओं की मौत के बाद अब विपक्ष भी सरकार पर हमलावर हो गया है.


हल्द्वानी से कांग्रेस विधायक सुमित हृदयेश ने कहा कि चारधाम यात्रा में स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव में 29 श्रद्धालुओं की मौत सरकार और उत्तराखंड के लिए एक बड़ा कलंक है, लेकिन वहां पर व्यवस्थाएं ठीक करने के बजाए सरकार का पूरा ध्यान चंपावत उपचुनाव पर है।


कांग्रेस विधायक सुमित हृदयेश ने कहा कि सरकार को पहले से अनुमान था कि 2 साल के बाद भारी संख्या में श्रद्धालु चार धाम यात्रा में आएंगे बावजूद इसके यात्रियों के लिए कोई ठोस व्यवस्था नहीं की गयी। जबकि गढ़वाल मंडल विकास निगम को 7 करोड़ रुपए व्यवस्थाओं के लिए सरकार ने दिए उसके बावजूद भी काम नहीं हुआ, लगातार हो रही मौतों के बाद भी सरकार गहरी नींद में हैं ऐसे में सरकार को उपचुनाव से अपना ध्यान हटाकर चार धाम यात्रा की व्यवस्थाओं को ठीक करना चाहिए, नहीं तो कोई बड़ी त्रासदी हो सकती है।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.