नैनीताल के लिए इस वैकल्पिक मार्ग पर तेजी से काम हो इसलिए कमिश्नर रावत ने लिया जायजा

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

कमिश्नर दीपक रावत ने आज बेल बसानी से होते हुए नैनीताल को जाने वाले पीएमजीएसवाई के तहत बन रही सड़क का निरीक्षण किया। उन्होंने देखा कि इस मार्ग पर निर्माण बैंक चार पुलों की वजह से अभी इस पर यातायात नहीं हो पा रहा है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि जल्द ही इन फूलों का काम पूरा कर इस पर डामरीकरण किया जाए ताकि लोगों को इस सड़क से नैनीताल पहुंचने में सुविधा हो सके। ज्ञात हो कि 2012 में विभिन्न टुकड़ों में इस सड़क की स्वीकृति हुई थी लेकिन अब वन विभाग की आपत्तियों के निस्तारण के बाद इस सड़क की पूरी तरह से सूचित मिलने के बाद इस पर काम पूरा होने की ओर अग्रसर है।

बताते चलें कि नैनीताल जाने के लिए अभी तक कालाढूंगी अथवा काठगोदाम मार्ग ही यातायात हेतु उपलब्ध हैं। अब यदि यह मार्ग आमजन हेतु सुचारू हो जाएं तो नैनीताल जाने वाले यात्रियों द्वारा काठगोदाम अथवा कालाढूंगी मार्ग पर दबाव कम हो सकेगा। फिलहाल इस सड़क मार्ग में 4 पुल निर्माणाधीन है जिनके चलते ही अभी तक यह मार्ग आमजन हेतु शुरू नहीं हो पाया है। कमिश्नर कुमाऊं मण्डल ने निरीक्षण के दौरान मंगलवार (आज) अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जल्द से जल्द पुल का निर्माण करते हुए डामरीकरण भी पूर्ण करें। कमिश्नर दीपक रावत ने कहा कि सड़क बनने से इस रूट पर पर्यटकों की गतिविधियां शुरू होने के साथ ही कई लोगों को रोजगार भी मिलेगा। निरीक्षण के दौरान कमिश्नर ने पीएमजीएसवाई के अधिकारियों को यह निर्देश भी दिए गए हैं कि सड़क की प्रोग्रेस रिपोर्ट हर सप्ताह उनके पास भेजी जाए। इस दौरान बेल बसानी से लेकर पटवाडांगर तक मोबाइल कनेक्टिविटी की दिक्कतें के चलते स्थानीय लोगों द्वारा आयुक्त को ज्ञापन दिया गया। जिसके संबंध में आयुक्त ने कहा कि वह अधीनस्थ अधिकारियों से बातचीत करके जल्द से जल्द मोबाइल टावर लगवाने की दिशा में काम करेंगे। 

निरीक्षण के दौरान डीआईजी कुमाऊं नीलेश आनंद भरणे कुमाऊँ मंडल विकास निगम के एमडी नरेंद्र भंडारी नैनीताल के संयुक्त मजिस्ट्रेट प्रतीक जैन, तहसीलदार हल्द्वानी संजय कुमार और पीएमजीएसवाई के अधिकारी मौजूद रहे।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.