बड़ी खबर -यहां सट्टा माफिया को पकड़ने का दरोगा को स्थानीय लोगों के विरोध का करना पड़ा सामना

ख़बर शेयर करें

जसपुर। ऊधम सिंह नगर में अपराधियों के सर से खाकी का खौफ खत्म होता जा रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस वीडियो से साफ जाहिर है कि किस तरह से दरोगा जी को स्थानीय लोगों ने बंधक बना लिया।

जसपुर के सट्टा माफिया को पकड़ने गए दरोगा को स्थानीय लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा, हालांकि दरोगा जी को शिकायत के आधार पर सट्टा संचालित करने वाले माफिया को पकड़कर उससे सट्टे से संबंधित रजिस्टर भी बरामद कर लिया था। लेकिन मौके पर परिजनों और स्थानीय लोगों ने सटोरियों को मौके से भगा दिया और रजिस्टर भी छीन लिया।
सट्टा माफिया के परिजनों और स्थानीय लोगों का गुस्सा यहीं नहीं थमा उन्होंने दबिश देने आए दरोगा के साथ अभद्रता करते हुए सरकारी काम मे बाधा भी डाली।

जसपुर कोतवाली क्षेत्र के बाजार चौकी इंचार्ज कौशल भाकुनी ने स्टोरियो को पकड़ने के लिये मोहल्ला पट्टी चौहानान मे दी थी दबिश।

स्टोरियो का साथ दे रहे युवको ने दरोगा को घेरकर की अभद्रता, काफी देर तक दरोगा को घेरे रखा, जिसके बाद पकड़े गए सटोरिए मौके से फरार हो गए।

वही दावा यह किया जा रहा है कि बीजेपी नेता शीतल जोशी के पहुंचने के बाद वह खुद मौके से दरोगा जी को सुरक्षित बचा कर ले गए, लेकिन सूत्रों कि मने तो मौके पर पहुंचे बीजेपी नेता के पहुंचने के बाद माहौल थोड़ा उग्र और हो गया और लोगों में आक्रोश पनपने लगा, आप देख सकते हैं कि किस तरह से बीजेपी नेता के पहुंचने के बाद लोग हल्ला करने लगे और अपना विरोध जाहिर करने लगे। हालांकि यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जिसकी पुष्टि खुद पुलिस ने की है और मुकदमा भी लिखा गया है।

वही जसपुर कोतवाल अशोक कुमार ने बताया कि दरोगा कौशल भाकुनी की तहरीर पर स्टोरिये का साथ देने वाले दर्जनों युवको के खिलाफ गंभीर धाराओं मे मुकदमा दर्ज कर लिया है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.