बड़ी खबर-हाकम के रसूख के आगे प्रशासन पस्त, अब तक नहीं चला बुलडोजर, आखिर कौन बचा रहा?

ख़बर शेयर करें



UKSSSC पेपर लीक मामले में मुख्य आरोपी का रसूख कितना है इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाता जा सकता है कि पूरी तैयारी और पुलिस बल के साथ पहुंचा प्रशासन हाकम के रिजार्ट पर बुलडोजर नहीं चला पाया है। सुबह से शाम होने को आई है लेकिन प्रशासन का बुलडोजर घिग्घी बांधे खड़ा है। हाकम सिंह के समर्थकों ने बुलडोजर के आगे धरना दे दिया है।


दरअसल वन महकमा दावा कर रहा है कि हाकम सिंह का रिजार्ट वन भूमि पर बना है। इस रिजार्ट को नोटिस दी गई और इसके बाद ध्वस्तीकरण की तारीख तय की गई। आज ध्वस्तीकरण के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल के साथ प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे। लेकिन जैसे सबकुछ पहले से तय था।


ध्वस्तीकरण के लिए आया बुलडोजर शोपीस बन कर रह गया। हाकम सिंह के स्थानीय समर्थकों ने विरोध किया तो अधिकारियों ने भी उनके सामने चुप्पी साध ली। इसके बाद हाकम सिंह के समर्थकों ने एक एक कर रिजार्ट का बचा खुचा कीमती सामान हटाना शुरु कर दिया। इसके बाद वो रिजार्ट में लगी लड़की को भी एक एक खोलने लगे। इस दौरान प्रशासन का बुलडोजर कहीं नहीं गरजा। वो समर्थकों के पीछे ही रहा और उसे रिजार्ट तक लाया भी नहीं गया।


हैरानी इस बात की भी है कि हाकम की संपत्ति जब्त करने के सीएम के आदेश के बावजूद हाकस सिंह का रिजार्ट सील नहीं किया गया। यही वजह रही कि हाकम सिंह के रिजार्ट में रखी कीमती चीजें पहले ही हटा ली गईं थीं। अब सिर्फ रिजार्ट का ढांचा बचा हुआ है। उसे भी गिराने में अफसरों के पसीने छूट गए हैं।


हाकम सिंह की पत्नी ने भी मौके पर हंगामा किया है। हाकम सिंह की पत्नी ने दावा किया है कि रिजार्ट उसके नाम पर है उसी के नाम से रजिस्ट्री भी है। ऐसे में इस रिजार्ट को तोड़ने का कोई अधिकार प्रशासन को नहीं है।

Ad Ad Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.