एसटीएफ की बड़ी कामयाबी, रणदीप भाटी गैंगस्टर गिरोह के 3 शूटर गिरफ्तार, बड़ी वारदात को देने वाले थे अंजाम

ख़बर शेयर करें

एसटीएफ को मिली बड़ी कामयाबी। एसटीएफ ने कल रणदीप भाटी गैंगस्टर गिरोह के 3 सक्रिय शूटर गिरफ्तार करने सहित पिस्टल व तमंचे समेत भारी मात्रा में कारतूस बरामद किए है। बताया जा रहा है ये गिरोह देहरादून में लूट की वारदात को अंजाम देने की फिराक में देहरादून आए थे।


जानकारी के अनुसार दिल्ली का रणदीप भाटी गिरोह जो नोएडा एनसीआर दिल्ली में सक्रिय है और अपहरण एवं फिरौती, हत्या जैसी संगीन वारदातों को अंजाम देता है।

रणदीप भाटी गिरोह के कुछ शार्प शूटर देहरादून में कोई बड़ी वारदात करने की फिराक में है और देहरादून आ रहे हैं। इस सूचना अपर पुलिस अधीक्षक चंद्रमोहन के नेतृत्व में एसटीएफ की चार टीम देहरादून आने वाले सभी रास्तों के बॉर्डर पर चेकिंग एवं निगरानी करने लगी जिसमे टीम -1 रायवाला बॉर्डर टीम -2 धर्मावाला बॉर्डर टीम-3 अशारोड़ी बॉर्डर टीम-4 कुल्हालबॉर्डर पर चेकिंग करने लगी। रात्रि करीब 11बजे आशा रोड़ी पर एसटीएफ के उपनिरीक्षक विपिन बहुगुणा, उप निरीक्षक नरोत्तम बिष्ट के नेतृत्व में तैनात टीम को एक काले रंग की स्कार्पियो आती दिखाई दी।


सूचना के अनुसार स्कॉर्पियो का अशारोड़ी से पीछा किया गया एवं ट्रांसपोर्ट नगर के पास उक्त स्कॉर्पियो को टीम द्वारा रोककर चेकिंग की गई, तो काले रंग की स्कॉर्पियो गाड़ी में तीन व्यक्ति मौजूद मिले, जिनको एसटीएफ टीम टीम द्वारा चारों तरफ से घेर कर पकड़ा गया, पकड़ने के बाद तीनों लोगों की तलाशी लेने पर उनके पास से 02 पिस्टल एवं 01 तमंचा भारी मात्रा में कारतूस बरामद हुए हैं। जिस पर तीनों लोगों की आर्म्स एक्ट में गिरफ्तारी की गई है।


तीनों से पूछताछ की गई तो उनके द्वारा बताया गया कि रणदीप भाटी गिरोह के सदस्य हैं एवं नोएडा के बीटू थाने से वांछित चल रहे हैं। गिरफ्तार आरोपी हरपाल ने बताया कि 3 अक्टूबर को हम तीनों लोगों द्वारा नोएडा बीटू थाना क्षेत्र में रणदीप भाटी के कहने पर सांगा पंडित नामक व्यक्ति का अपहरण कर उसे जान से मारने का प्रयास किया गया था, जिसमें वे तीनों लोग वांछित चल रहे हैं। गैंगस्टर रणदीप भाटी का मुख्य शूटर हरपाल माह फरबरी वर्ष 2022 में अमन नाम के एक कॉल सेंटर संचालक का अपहरण कर 25 लाख रु की फिरौती मांगी की थी,

जिसे बाद में थाना हरी नगर पुलिस दिल्ली द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया था व गिरफ्तार एक अन्य शूटर गौरव चंदीला भी फरवरी 2020 में थाना सेक्टर – 58, बिशनपुरा से हत्या के प्रयास में जेल जा चुका है । तीनों अभियुक्तों ने बताया कि आजकल पैसे की काफी तंगी चल रही थी, तथा नोएडा वह दिल्ली में पकड़े जाने का डर था, जिस कारण से कोई बड़ी लूट की वारदात करने की योजना बनाकर देहरादून आए थे, इसके लिए देहरादून में दो-तीन दिन रुक कर रेकी करके लूट करने की योजना बनाई थी। गिरफ्तारी के बाद एसटीएफ टीम द्वारा तीनों सक्रिय आरोपियों को थाना क्लेमेंटटाउन में ले जाकर पूछताछ कर अन्य जानकारी हासिल की जा रही है।


गौरतलब है कि गैंगस्टर सुंदर भाटी का अनिल दुजाना-रणदीप भाटी गैंग से काफी समय आपस में गैंगवार चल रहा है। जिसमें 31 जनवरी 2014 को सुंदर भाटी गिरोह के मुख्य शूटर अशोक निवासी हापुर उत्तर प्रदेश व 5 अन्य के द्वारा रणदीप भाटी गिरोह के एक शूटर संजय नागर निवासी गौतम बुद्धनगर उत्तर प्रदेश का नालापानी रोड, रायपुर देहरादून में सुबह 9 बजे के करीब कई राउंड गोली मारकर हत्या कर दी थी। जिस संबंध में थाना रायपुर में मुकदमा अपराध संख्या 13/14 धारा 302 आईपीसी पंजीकृत किया गया था। वर्तमान में अब रणदीप भाटी एवं अनिल दुजाना की भी आपस में रंजिश चल रही है।


तीनों आरोपियों ने पूछताछ के दौरान अपनी पहचान हरपाल पुत्र रामकिशन निवासी ग्राम गुजरमाजरी, थाना बाबल, जनपद रेवाड़ी हरियाणा। गौरव कुमार चंदीला पुत्र सुखवीर चंदीला निवासी ग्राम भतौला थाना खेड़ीपुल, फरीदाबाद हरियाणा। गौरव कुमार पुत्र कृपाल सिंह निवासी ग्राम भगोट, थाना चांदीनगर, बागपत, उत्तर प्रदेश। बताई है।

उनके पास से दो पिस्टल, एक तमंचा एवं 12 जिंदा कारतूस बरामद हुई है। इस मामले में तीनों आरोपियों के अपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है जिनके विरुद्ध दिल्ली एनसीआर में कई आपराधिक मामले दर्ज हैं हरपाल भाटी गिरोह का मुख्य शार्प शूटर है।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.