सोनिया गांधी के निजी सचिव पर दुष्कर्म का आरोप

ख़बर शेयर करें

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के निजी सचिव पीपी माधवन पर एक महिला ने शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। दिल्ली के उत्तम नगर थाने में 26 जून को मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस को दी शिकायत में पीड़िता ने बताया कि उसके पति कांग्रेस के कार्यक्रमों में होर्डिंग व पोस्टर लगाते थे। वर्ष 2018 से वह भी कांग्रेस के कार्यक्रमों में जाने लगी थी। इस दौरान वह कई बार पार्टी कार्यालय गई थी। वर्ष 2020 में उसके पति की मौत के बाद उसकी आर्थिक स्थिति काफी खराब हो गई। मदद की आस में वह कांग्रेस दफ्तर गई तो वहां पर पीपी माधवन का नंबर किसी ने दिया। उसने पीपी माधवन से बात की और अपनी दयनीय स्थिति के बारे में बताया। इसके बाद उनसे बातचीत का सिलसिला चलता रहा।

महिला के मुताबिक पीपी माधवन ने इस वर्ष 21 जनवरी को नौकरी के इंटरव्यू के लिए सुंदर नगर के एक मकान में बुलाया। वहां पर महिला के कागजात लेने के साथ ही उसके परिवार के बारे में पूछताछ की। माधवन ने अपनी पत्नी से तलाक होने की बात कहते हुए उससे शादी करने की इच्छा जाहिर की। उसने भी शादी के लिए हामी भर दी। इसके बाद वीडियो व ऑडियो काल से बात होने लगी। एक दिन उत्तम नगर में रात दस बजे मिलने के लिए माधवन ने बुलाया। माधवन ने कार में उसे बिठा लिया और अपने ड्राइवर को वहां से जाने के लिए कहा।

इसके बाद पीपी माधवन महिला के साथ गलत व्यवहार करने लगा। महिला ने विरोध किया तो गुस्से में वह चला गया। अगले दिन पीड़िता को कॉल कर माफी मांगी। इसके बाद पहले की तरह ही बात होने लगी। एक दिन दोबारा आरोपित ने सुंदर नगर के एक फ्लैट पर बुलाया और उसके साथ दुष्कर्म किया। एक दिन महिला से बातचीत के क्रम में ही आरोपित ने कहा कि तुम्हारा नंबर मेरी पत्नी ने देख लिया है। मोबाइल में नाम बदलना पड़ेगा।

इसके बाद महिला को पता चला कि पीपी माधवन का पत्नी के साथ तलाक नहीं हुआ है। माधवन ने उसे धमकी भी दी। पुलिस को दी शिकायत में महिला ने कहा कि उसके पास सुबूत के तौर पर काफी वीडियो हैं, जिसे वह पुलिस को दे सकती है। द्वारका जिला पुलिस उपायुक्त हर्षवर्धन ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। इसमें अभी तक गिरफ्तारी नहीं हुई है।

पत्नी से तलाक की बात निकली झूठी

पीड़िता का आरोप है कि आरोपित ने उसके साथ पत्नी से तलाक की बात कहकर नजदीकियां बढ़ाई थीं। मगर एक दिन फोन पर बात के दौरान आरोपित ने बताया कि उसकी पत्नी को उसके फोन नंबर का पता चल गया है उसे अब फोन नंबर किसी दूसरे नाम से सेव करना होगा। यह सुनकर पीड़िता हैरान रह गई। बार-बार पूछने पर भी आरोपित ने उसे कुछ नहीं बताया। जब शादी के लिए दबाव बनाया तो वह उसे नजरअंदाज करने लगा।

इस बीच आरोपित ने पीड़िता से किसी अन्य पुरुष से संबंध बनाने के लिए कहा। उसे रुपयों का लालच दिया। जब विरोध किया तो आरोपित ने उसे धमकी देते हुए कहा कि हम 70 साल से राज कर रहे हैं जो हमसे पंगा लेता है, उसे रातों-रात गायब करवा देते हैं। हारकर पीड़िता ने आरोपित के खिलाफ थाने में शिकायत दी। जिसके आधार पर दुष्कर्म व जान से मारने की धारा के तहत केस दर्ज किया गया है।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.