सितरंग तूफान मचा सकता है तबाही, यहां होगी भारी बारिश

ख़बर शेयर करें



मौसम विभाग के अनुसार उत्तरी अंडमान सागर के ऊपर और दक्षिण अंडमान सागर और दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी के आसपास के इलाकों में एक कम दबाव का क्षेत्र बना है। जिससे 22 अक्टूबर के आसपास पश्चिम-उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है। इसके 23 अक्टूबर को बंगाल की खाड़ी के ऊपर पहुंचने की संभावना है। जिससे इस कम दबाव वाले इलाकों के धीरे-धीरे एक चक्रवाती तूफान के रूप में बदलने की पूरी संभावना जताई गई है।


मौसम विभाग ने कहा इसके बाद 25 अक्टूबर को इसके पूर्वाेत्तर की ओर बढ़ने और पश्चिम बंगाल-बांग्लादेश तटों के पास पहुंचने की संभावना है। अच्छी बात है कि आईएमडी ने अभी तक चक्रवात के कारण भारी बारिश और हवा की गति पर कोई पूर्वानुमान अब तक जारी नहीं किया है।


कहां से आया सितरंग का नाम
छह मौसम विज्ञान केंद्र के समूह आरएसएमसी और पांच क्षेत्रीय उष्णकटिबंधीय चक्रवात चेतावनी केंद्रों टीसीडब्ल्यूसी ने मिलकर इस चक्रवात का को यह नाम दिया है। इस पैनल के तहत 13 सदस्य देश आते हैं। साइक्लोन को लेकर यह पैनल एडवाइजरी जारी करता है। इस प भारत, बांग्लादेश, ईरान, मालदीव, म्यांमार, ओमान, पाकिस्तान, कतर, सऊदी अरब, श्रीलंका, थाईलैंड, संयुक्त अरब अमीरात और यमन शामिल है। इस चक्रवाती तूफान का नाम सितरंग थाईलैंड ने दिया है।

वहीं 24 और 25 अक्टूबर को ओडिशा में छिटपुट भारी का पूर्वानुमान लगाया गया है। वहीं, पश्चिम बंगाल में 24 और 25 अक्टूबर को भारी बारिश की संभावना जताई है। 26 अक्टूबर को भी विभिन्न स्थानों पर अत्यधिक भारी बारिश होने की संभावना है। नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में भी इसी तरह की बारिश होने की उम्मीद है।

Ad Ad Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.