सरकार के मंत्री एवं आयोग के अध्यक्ष पर भर्ती घोटाले मे शामिल,सीबीआई से कराई जाए जांच: भुवन

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

सदन में कांग्रेस के उपनेता भुवन कापड़ी ने भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि यूकेएसएसएससी पेपर लीक एवं विभिन्न भर्तियों के घोटाले मे सरकार के मंत्री तथा तत्कालीन मुख्यमंत्री और वित्त मंत्री का कार्यभार देख रहे त्रिवेंद्र सिंह रावत पर सीधे-सीधे इन घोटालों मैं शामिल होने का आरोप लगाया है.

उन्होंने कहा कि क्या एसटीएफ मंत्री एवं आयोग के अध्यक्ष जो कि वरिष्ठ आईएएस हैं के खिलाफ मामले में निष्पक्ष जांच कर सकती है. ऐसा बिल्कुल भी संभव प्रतीत नहीं हो रहा है. इसीलिए इस पूरे प्रकरण की जांच सीबीआई से कराई जाए जानी चाहिए.

सरकार के मंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री एवं आयोग के अध्यक्ष है बराबर के दोषी इसीलिए सीबीआई की हो जांच

उन्होंने एक देश, एक निशान, एक संविधान की बात कहने वाली भारतीय जनता पार्टी पर तंज कसते हुए कहा कि जब पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाले पर सीबीआई और ईडी द्वारा जांच कराई जा सकती है तो उत्तराखंड में क्यों नहीं कराई जा रही है. उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में इसलिए सीबीआई और ईडी को तुरंत भेजा गया क्योंकि वहां पर भाजपा की सरकार नहीं है उत्तराखंड के मामले में केंद्र सरकार दोहरा मानक अपना रही हैं.

उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि यह एक राज्य का मामला है इसलिए इसकी सीबीआई जांच की जरूरत नहीं है और प्रदेश की एसटीएफ ही इसकी जांच करेगी. लेकिन इस मामले में अब उत्तर प्रदेश का नकल माफिया भी एसटीएफ की पकड़ में आया है अभी यह 2 प्रदेशों का मामला भी बन चुका है इसलिए इसकी सीबीआई से जांच करना जरूरी हो गया है.

भुवन कापड़ी ने सरकार पर आरोप लगाया कि इस तरह से बड़े-बड़े नेताओं मंत्रियों और अधिकारियों का नाम इस मामले में सामने आ रहा है उससे निश्चित रूप से यह एक बहुत बड़ा घोटाला होगा प्रदेश के युवाओं के सपनों के साथ खिलवाड़ करने वाले इन आरोपियों के साथ एसटीएफ न्याय नहीं कर सकती है. इसीलिए इस पूरे मामले की जांच सीबीआई से कराई जानी चाहिए उन्होंने आयोग के अध्यक्ष और सचिव को इस मामले में बराबर का दोषी बताते हुए कहा कि सबसे बड़ा दोष इन्ही दो अधिकारियों का है इनके पास ही निष्पक्ष पेपर निकालने के साथ ही परीक्षा और भर्ती करने का जिम्मा था उन्होंने अध्यक्ष को निशाने पर लेते हुए कहा कि वह झूठ बोल रहे हैं कि उन्होंने जांच की मांग की थी अगर उन्होंने जांच की मांग की थी और उनकी मांग सरकार द्वारा नहीं सुनी जा रही थी तो उन्होंने उसी समय इस्तीफा दें देना चाहिए था.

एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता एवं पूर्व अध्यक्ष अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मामले में धामी सरकार पर निशाना साधा और जब उन्हें जानकारी हुई तो उन्होंने इस मामले पर कांग्रेस लगातार संघर्ष करेगी. उन्होंने जोर देकर कहा कि देवभूमि को भाजपा द्वारा बनाए जा रहे भ्रष्टाचार प्रदेश नहीं बनने दिया जाएगा कांग्रेस इस मामले में सदन और सड़क तक संघर्ष जारी रखेगी.

हल्द्वानी के विधायक सुमित हृदेश ने कहा कि उत्तराखंड का भर्ती घोटाला सबसे बड़ा व्यापम घोटाला साबित होगा इस पूरे प्रकरण की जांच सीबीआई के द्वारा होनी चाहिए प्रदेश के युवाओं के सपनों के साथ खेलने वाली सरकार को अब सत्ता में रहने का कोई अब नहीं रह गया है उन्होंने कहा कि राज्य के राज्यपाल और प्रधानमंत्री को इस मामले पर दखल देते हुए वर्तमान की सरकार को बर्खास्त कर देना चाहिए

पत्रकार वार्ता के दौरान महानगर अध्यक्ष राहुल छिमवाल महामंत्री गोविंद सिंह बिष्ट हरीश सिंह मेहता सुहेल सिद्दीकी सुरेश जोशी महानगर कोषाध्यक्ष नरेश अग्रवाल, गोविंद बगड़वाल समेत कई कांग्रेसी मौजूद रहे

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.