रंजीत ने गुरु हरदा पर किया हमला टिकट के नाम पर बनाए करोड़ो, कुछ के मिले कुछ काट रहे हैं चक्कर,पढ़े खबर

ख़बर शेयर करें

उत्तराखंड की राजनीति से बड़ी खबर है। हार के बाद एक के बाद एक कर कांग्रेस प्रत्याशियों के बयान सामने आने लगे हैं। हार का सामने करने के बाद एक एक कर अब कांग्रेस नेताओं का गुस्से का गुब्बार फूटने लगा है। पहले हरीश रावत ने लंबी चौड़ी पोस्ट में प्रीतम सिंग और देवेंद्र यादव पर भड़ास निकाली तो वहीं अब सल्ट से चुनाव हारे रणजीत रावत ने हरीश रावत पर गंभीर आरोप लगाए हैं। कभी गुरु शिष्य के रुप में जाने जाने वाले हरीश रावत और रणजीत रावत के बीच ब़ड़ी दरार आ गई है जो की काफी पहले आ गई थी लेकिन हार के बाद ये और कड़ी हो गई है।


रणजीत रावत ने हरीश रावत पर आरोप लगाते हुए कहा कि हरीश रावत ने पैसे लेकर टिकट बांटे। टिकट नहीं मिलने पर लोग अब हरीश रावत को तलाश रहे हैं और पैसे मांग रहे हैं। कहा कि कुछ लोगों को हरीश रावत के मैनेजर ने पैसे वापस भी किए हैं. लेकिन कुछ अभी भी हरीश रावत से पैसे मांग रहे हैं। रणजीत रावत ने साफ तौर पर कहा कि हरीश रावत नए नेताओं को ऐसे अफीम चटा देते हैं कि वो मोह से बाहर ही नहीं निकल पाते।
रणजीत रावत ने कहा कि उन्हें हरीश रावत के सम्मोहन से निकलने में 36 साल लग गए। रणजीत रावत ने कांग्रेस की हार का ठीकरा सीधे हरीश रावत पर फोड़ा। उन्होंने कहा कि हार के वे सबसे बड़े जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि 2017 में हरीश रावत रामनगर से चुनाव लड़ना चाहते थे लेकिन ऐसा नहीं। कहा कि हरीश रावत ने मुझे कहा था कि साल्ट में तुमने इतना काम किया लेकिन सल्ट की जनता ने तुम्हें हरा दिया. ऐसे में अब रामनगर से चुनाव लड़ो। कहा कि पार्टी के पदाधिकारियों और तमाम नेताओं के दबाव में मैंने इस बार गलती कर दी है क्योंकि रामनगर से ही मेरी पिछले 6 साल से तैयारी थी और सल्ट में मैनें कोई तैयारी नहीं की और इसी कारण मुझे हार का सामना करना पड़ा।
रणजीत रावत ने कहा कि जब अभी मुझे रामनगर से कहीं और भेजा जा रहा था तो मैंने सीधे तौर पर इंकार कर दिया था क्योंकि मैं फुटबॉल नहीं हूं जो मुझे इधर से उधर भेजते रहें।बता दें कि रणजीत रावत पहले भी हरीश रावत के खिलाफ बयान दे चुके हैं औरवार कर चुके हैं. कभी दोनों गुरु शिष्य हुआ करते थे लेकिन अब दोनों की दुश्मनी सातवें आसमान पर है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.