दिल्ली की फार्मा कंपनी ने हल्द्वानी के डॉक्टर को लगाई 6 लाख की चपत मुकदमा दर्ज

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉटकॉम

दिल्ली की फार्मा कंपनी ने हल्द्वानी के एक चिकित्सक को साढ़े 6 लाख की चपत लगा दी। जब चिकित्सक ने अपने रूपये वापस मांगे तो कंपनी के सीईओ ने रूपये न लौटाने और जान से मारने की धमकियां देनी शुरू कर दी। चिकित्सक की शिकायत पर पुलिस ने फार्मा कंपनी के सीईओ और सुपरवाइजर के खिलाफ धोखाधड़ी व धमकाने का केस दर्ज कर लिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कुसुमखेड़ा की जगन्नाथ कालोनी फेस 2 निवासी डॉ अंशुमन जोशी ने मुखानी पुलिस को दी गई शिकायत में कहा है कि उन्होंने फेसबुक पर नेहरू विहार, मुखर्जी नगर, नई दिल्ली की सेलीब्रिटी फार्मा प्राइवेट लि. का एक विज्ञापन देखा था, जिसमें कहा गया था कि कंपनी की आयुर्वेदिक दवाईयों के लिए फ्रेन्चाइजी की आवश्यकता है एवं दवार्ईयों की बिक्री की जिम्मेदारी कम्पनी की होगी।

इस विज्ञापन को देखकर उन्होंने सेलीब्रिटी फार्मा प्राईवेट लि.कंपनी के कार्यालय में संपर्क किया तो कम्पनी के सीईओ कमल आनन्द व सुपरवाईजर अमित आनन्द से बात हुई। जिन्होंने बताया कि यदि वे उनकी कंपनी की फ्रेन्चाइजी लेते हैं तो कंपनी उनसे जमानत के तौर पर 5 लाख व मैन्टेंनैंस कॉस्ट के रुप में डेढ़ लाख रुपये लेगी। इस पर डॉ जोशी ने कपंनी को आन लाइन व आफ लाइन साढ़े 6 लाख रूपये भेज दिए।

इसके बाद कमल आनन्द ने डॉ जोशी के साथ एग्रीमेंट किया था। एग्रीमेंट में लिखा गया था कि कम्पनी डॉ जोशी को प्रत्येक 30 हजार रुपये या सकल लाभ का 30 प्रतिशत जो भी ज्यादा होगा देगी। यह धनराशि उन्हें पारिश्रमिक के तौर पर दी जाएगी। एग्रीमेंट के बाद 17 मार्च 2021 को कम्पनी द्वारा केवल 1 लाख 44 हजार रुपये का माल कम्पनी द्वारा उन्हें भेजा गया।

इन दवाओं को बेचने के बाद उन्होंने सारा पैसा कंपनी को भेज दिया। परन्तु कम्पनी ने उन्हें माह के अन्त में कोई पैसा नहीं दिया। जब उन्होंने कम्पनी में फोन किया तो कम्पनी ने कहा कि अभी लॉकडाउन लगा है आप कुछ माह हमारे साथ कॉआपरेट करें, आपका पेमेंन्ट हो जायेगा। जब उन्होंने समाप्त हो चुकी दवाओं को मंगाने की बात की तो कंपनी के प्रतिनिधि ने टालमटोल करनी शुरू कर दी।

इसके बाद कंपनी ने कई माह तक माल नहीं भेजा और दिसम्बर माह में केवल 70 हजार रुपये का माल भेजा और उसका पारिश्रमिक भी नहीं दिया। जब उन्होंने कम्पनी से अपने पारिश्रमिक की मांग की तो कम्पनी के सीईओ कमल आनंद ने पारिश्रमिक देने में आनाकानी करनी शुरू कर दी। कई बार फोन करने पर कमल आनंद ने उनके साथ गाली गलौच करते हुए कहा कि ’जो करना है कर ले हम तेरे पैसे नहीं देंगे और न ही तुझे माल भेजेंगे।’

जब उन्होंने अपने रूपये वापस मांगे तो कमल आनन्द व अमित आनन्द ने उन्हें जान से मरवाने की धमकियां दीं।पुलिस ने डॉ अंशुमन जोशी की तहरीर पर कंपनी के सीईओ कमल आनंद और सुपरवाइजर अमित आनंद के खिलाफ धोखाधड़ी व जान से मारने की धमकी देने का मुकदमा दर्ज करने के साथ मामले की पड़ताल में जुट गई है।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.