एक बार फिर जेब पर पड़ सकता है असर, बढ़ेंगे पेट्रोल- डीजल के रेट

ख़बर शेयर करें

उत्तराखंड समेत पांच राज्य में विधानसभा चुनाव खत्म हो गए हैं। दो दिन बाद 10 मार्च को मतगणना होगी। अब तक पेट्रोल और डीजल के दाम नहीं बढ़ रहे थे। लेकिन, चुनाव खत्म होने के बाद अब तेल की कीमतें बढ़ सकती हैं। रूस और यूक्रेन युद्ध के चलते अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं।


माना जा रहा है कि लोगों को अब महंगाई का झटका लग सकता है। पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी हो सकती है। क्योंकि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। इसका असर देश में पेट्रोल और डीजल के दामों पर भी पडेगा।


अंतरराष्ट्रीय कच्चे तेल की कीमतें नौ साल में पहली बार 120 अमेरिकी डालर प्रति बैरल से ऊपर पहुंच गईं। वहीं, चार मार्च को यह थोड़ा कम होकर 111 अमेरिकी डालर पर आ गईं। तेल कंपनियों के लिए मार्जिन को शामिल करने के बाद कीमतों में 15.1 रुपये की बढ़ोतरी की जरूरत है। देश में पेट्रोल के दाम 15 से 22 रुपये तक महंगे हो सकत हैं।
एक रिपोर्ट के अनुसार घरेलु तेज कंपनियों को सिर्फ लागत की भरपाई के लिए कीमतें बढ़ानी होंगी। अगर तेज कंपनियों ने यह बढ़ोतरी की तो इससे आम आदमी की जेब पर असर पड़ेगा। राजधानी देहरादून की बात करें तो यहां आइओसी के पेट्रोल पम्प में पेट्रोल के दाम 94 रुपये प्रति लीटर है। वहीं, डीजल की बात करें तो इसकी कीमत 87 रुपये 32 पैसा प्रति लीटर है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.