अंकिता भंडारी केस में नहीं मिला कोई VIP, सदन में सरकार ने बताया

ख़बर शेयर करें



अंकिता भंडारी हत्याकांड में सरकार ने एक बड़ा बयान दिया है। सरकार ने कहा है कि इस मामले में कोई विशेष VIP नहीं है। सरकार के किसी खास वीआईपी के होने से इंकार किया है।


दरअसल विधानसभा में विपक्ष ने राज्य में कानून व्यवस्था का मसला उठाया। इसी दौरान अंकिता भंडारी ही हत्या का मसला उठाया गया। विपक्ष ने पूछा कि इतने दिनों बाद भी अब तक एसआईटी इस मामले में वीआईपी के नाम का पता नहीं लगा पाई है। इसके साथ ही विपक्ष ने अंकिता हत्याकांड की सीबीआई जांच न कराए जाने पर भी सवाल उठाए।


नहीं मिला कोई VIP
इसी चर्चा का जवाब देते हुए सदन में संसदीय कार्यमंत्री प्रेमचंद ने कहा कि अंकिता भंडारी हत्याकांड में किसी वीआईपी के होने की बात नहीं पता चली है। प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि अंकिता भंडारी हत्याकांड में हुई पूछताछ में सामने आया है कि रिसार्ट में कुछ विशेष कमरे थे जिन्हे प्रेसिडेंशियल सूइट कहा जाता था। जो भी इन कमरों में रुकता था उसे वीआईपी गेस्ट कहा जाता था। संसदीय कार्यमंत्री ने कहा है कि विवेचना के दौरान अभी तक ऐसे कोई वीआईपी प्रकाश में नहीं आया है।


वहीं संसदीय कार्यमंत्री ने सबूतों को नष्ट किए जाने के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है। संसदीय कार्यमंत्री ने कहा है कि एसआईटी के पास इस मामले में पर्याप्त साक्ष्य हैं। एसआईटी सही जांच कर रही है।


वहीं इस मामले में सीबीआई जांच पर भी बोले हैं। संसदीय कार्यमंत्री ने कहा है कि ये मामला हाईकोर्ट में है और कोर्ट का जो आदेश होगा सरकार उसका पालन करेगी।

Ad Ad Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.