बेटे के एनकाउंटर की खबर सुन कोर्ट में फूट-फूटकर रोया अतीक अहमद

ख़बर शेयर करें

यूपी एसटीएफ ने अतीक अहमद के बेटे असद को एनकाउंटर में ढेर कर दिया है. झांसी में असद के साथ शूटर गुलाम भी एनकाउंटर में मारा गया है. प्रयागराज कोर्ट में अतीक अहमद की पेशी के दौरान जब उसको असद के एनकाउंटर की खबर मिली तो कोर्ट में ही फूट-फूटकर रो दिया. इसके अलावा अशरफ भी हैरान रह गया.

उमेश पाल हत्याकांड में शूटर असद और गुलाम दोनों ही फरार चल रहे थे. यूपी पुलिस की ओर से दोनों के ऊपर पांच-पांच लाख रुपये का ईनाम रखा गया था. झांसी में यूपी एसटीएफ के डिप्टी एसपी नवेंदु और डिप्टी एसपी विमल की नेतृत्व में हुए एनकाउंटर में दोनों को ढेर कर दिया गया है. एसटीएम को असद और गुलाम के पास से एक ब्रिटिश bulldog रिवॉल्वर और Walhther पिस्टल बरामद हुई है.

पारीछा डैम इलाके में छिपे हुए थे दोनों


बताया जा रहा है कि असद और मोहम्मद गुलाम झांसी में पारीछा डैम के पास छिपे हुए थे. पारीछा डैम झांसी में बड़ा गांव और चिरगांव थाना क्षेत्र के बीच में है. इसी इलाके में दोनों छिपकर बैठे हुए थे. पुलिस टीम अभी भी इलाके में कॉम्बिंग कर रही है. यूपी एसटीएफ ने झांसी के बड़ागांव थाना क्षेत्र में एनकाउंटर किया है. यह जगह कानपुर-झांसी हाईवे पर स्थित है. झांसी से कानपुर की ओर 30 किलोमीटर पहले लोकेशन पर एसटीएफ ने असद और गुलाम को मार गिराया.

डिप्टी सीएम बोले- यही हश्र होना था

वहीं असद के एनकाउंटर की खबर सुनकर प्रयागराज के उमेश पाल में खुशी का माहौल है. उमेश की मां ने उमेश को न्याय दिलाने के लिए सीएम योगी को धन्यवाद भी दिया. यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने एसटीएम को बधाई दी. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि उमेश पाल एडवोकेट और पुलिस के जवानों के हत्यारों का यही हश्र होना था.

सीएम ने एसटीएफ की तारीफ की

उमेश पाल हत्याकांड में फरार असद अहमद और शूटर गुलाम के एनकाउंटर पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने अधिकारियों की तारीफ की. इसके साथ ही सीएम ने कानून व्यवस्था पर बड़ी बैठक बुलाई है. CM योगी ने UP STF के साथ साथ DGP, स्पेशल DG कानून व्यवस्था और पूरी टीम की सराहना की. प्रमुख सचिव गृह संजय प्रसाद ने इस एनकाउंटर की जानकारी CM को दी. इस पूरे मामले CM के सामने रिपोर्ट रखी गई.

उमेश मर्डर केस में ही थी अतीक की पेशी

उमेश पाल हत्याकांड में ही आज अतीक अहमद और अशरफ को कोर्ट में पेश किया गया. कोर्ट में लाने से पहले अतीक की तबीयत भी खराब हो गई थी. बताया गया कि अतीक का बीपी हाई था. अतीक को गुजरात की साबरमती जेल से बुधवार को ही यूपी लाया गया और अशरफ को बरेली जेल से प्रयागराज लाया गया है. यूपी एसटीएफ के एडीजी अमिताभ यश ने कहा कि असद और गुलाम को जिंदा पकड़ने की कोशिश की गई थी, लेकिन इन्होंने STF की टीम पर फायर किया, उसके बाद एनकाउंटर में मार गिराया गया.

24 फरवरी को हुई थी उमेश पाल की हत्या

गौरतलब है कि 24 फरवरी को प्रयागराज में राजूपाल हत्याकांड में मुख्य गवाह उमेश पाल की हत्या कर दी गई थी. उमेश पाल जब अपने घर जा रहे थे, तभी गली के बाहर कार से निकलते वक्त उन पर फायरिंग हुई थी. इस दौरान बम भी फेंके गए थे. इस हमले में उमेश पाल और उनके दो सरकारी गनर्स की मौत हो गई थी.

मिट्टी में मिल चुका हूं: अतीक

बता दें कि साबरमती से प्रयागराज लाते वक्त अतीक अहमद ने कहा था कि वह मिट्टी में मिल चुका है. वह अब रगड़ा जा रहा है. इस दौरान उसने अपनी पत्नी और बच्चों को परेशान नहीं करने की गुहार लगाई थी.

Ad Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.