मंडल अध्यक्ष ने मोदी के वर्चुल कार्यक्रम की पोस्ट डाली खुद चल दिये कांग्रेस में

ख़बर शेयर करें

ग्रेटर हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

राजनीति कब क्या घटना घट जाए कहा नहीं जा सकता है। पार्टी अपने पदाधिकारियों पर विश्वास करते हुए उन्हें सारे कार्यक्रम की जिम्मेदारी देती है और पदाधिकारी इन कार्यक्रमों की सूचना विभिन्न माध्यमों के सहारे कार्यकर्ताओं तक पहुंचाते हैं । लेकिन जब पदाधिकारी के ऊपर पूरे मंडल जिम्मेदारी होती है अपने राजनैतिक वातावरण के चलते कहीं दूसरे पाले में चले जाएंगे इसका अंदाजा ह पार्टी को भी नहीं लग पाता है। पार्टी भी हक्का-बक्का रह जाती है कि उसका पदाधिकारी बीच कार्यक्रम में दल बदल लेता।

ऐसा ही एक मामला लालपुर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत हल्द्वानी पूर्वी के अंतर्गत हुआ जब मंडल अध्यक्ष ललित प्रसाद आर्य ने गोरा पड़ाव के एक बैंकट हॉल में मोदी के बर्तन कार्यक्रम की सूचना 12:30 बजे होने की बात कार्यकर्ताओं को दी लेकिन 12:30 बजे से पहले वह कांग्रेस पार्टी में चले गए ।12:30 बजे से यह कार्यक्रम होना था कार्यकर्ताओं को गोरापड़ाव के बैंकट हॉल में पहुंचना था कि वह अपने में मंडल अध्यक्ष का भी इंतजार कर रहे थे लेकिन मंडल अध्यक्ष इससे पहले ही कांग्रेस के हो गए 12:30 बजे कार्यकर्ता गोरा पड़ाव की इस बैंकट हॉल में पहुंचे तो मंडल में उनका नेतृत्वकर्ता दूसरी पार्टी का बन चुका था। बड़ी राजनीति में तो होता है लेकिन छोटी राजनीति में भी ऐसा होने लग गया तो इससे यह अंदाजा लगता है कि आज की राजनीति में विचार की राजनीति दम तोड़ती नजर आ रही।

भारतीय जनता पार्टी अपने आप को विचारों और सिद्धांतों की पार्टी कहती है और वह संगठन के खाटी व्यक्ति को है शक्ति केंद्र मंडल तथा जिले का दायित्व देती है 20 25 सालों से भारतीय जनता पार्टी के लिए राजनीति कर रहे ललित प्रसाद आर्य बीच चुनाव में पार्टी को पीठ दिखा कर चला जाना निश्चित रूप से भारतीय जनता पार्टी के काफी हैरानी करने वाला है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.