जानिए हरक के तंज पर हरीश ने क्या दिया जवाब, किसने क्या महापाप?

Ad
ख़बर शेयर करें

राज्य में चुनाव बिल्कुल सिर पर खड़े हैं और हर एक राजनीतिक दल अपना कुनबा बढ़ाने में लगा है साथ ही एक दूसरे के ऊपर कटाक्ष करने में लगे हैं लेकिन जिस प्रकार से भाजपा को यशपाल आर्य और उनके बेटे संजीव आर्य ने करारा झटका दिया था और कांग्रेस में वापसी की है उसके बाद से सियासी माहौल और चुनावी समीकरण दोनों काफी बदल चुके हैं और इस समय भाजपा और कांग्रेस के बीच मुद्दों की बातें कम और एक दूसरे के नेताओं को पार्टी में शामिल करने की बातें ज्यादा सामने आ रही है और दोनों राजनीतिक दलों के कद्दावर नेताओं के द्वारा लगातार दावे किए जा रहे हैं कि फलां के संपर्क में इतने विधायक और नेता हैं। चुनावी समर में जुबानी जंग भी चरम पर पहुंच गई है। ये जुबानी जंग कांग्रेस के बागी और भाजपा सरकार में कैबिनेट मंत्री और पूर्व सीएम हरीश रावत के बीच है। हरीश रावत ने कहा था कि उनकी सरकार गिराने वाले महापापी हैं। इन महापापियों की कांग्रेस में वापसी तभी संभव है, जब ये सार्वजनिक रूप से माफी मांगेंगे। महापापी कहे जाने पर हरक सिंह रावत ने कड़ा ऐतराज जताया और हरीश रावत को ही डेनिश शराब के बहाने महापापी कह डाला।


हरक सिंह रावत ने कहा कि हरीश रावत ने तो उत्तराखंड के युवाओं को डेनिस जहरीली शराब पिलाकर पाप किया है। उन्होंने कहा कि डेनिश शराब के बारे में सारा उत्तराखंड जनता है। इसलिए माफी तो हरीश रावत को मांगनी चाहिए जो उन्होंने जहरीली शराब पिलाई। हरक के इस बयान के बाद ये सियासी जंग अब और तीखी हो गई है।
हरक के इस बयान के बाद हरीश रावत ने भी पलटवार किया है। हरक के बयान पर हरीश रावत ने ट्वीट किया है। पूर्व सीएम ने कहा कि कहा आज डेनिश शराब, राज्यभर में शराब की दुकानों से लेकर सीएसडी कैंटीन में भी उपलब्ध है। हरदा ने कहा कि फर्क यह है कि उनके कार्यकाल की डेनिश में पहाड़ के फलों का सार था।
इस तरह हरदा ने हरक को जवाब दे दिया है। सियासी दिग्गजों की ये जुबानी जंग थमने का नाम नहीं ले रही है। इस तरह से पूर्व सीएम हरीश रावत हरक सिंह रावत के कांग्रेस में वापसी के रास्तों को भी बंद करना चाहते हैं। उन्होंने पहले ही साफ कर दिया है कि इनकी वापसी उनके लिए कठिन होगी।

रिपोर्ट by-ankur सक्सेना

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *