खाकी का मानवीय चेहरा : पिथौरागढ़ पुलिस ने अनाथ बच्ची को लिया गोद, दुल्हन बनाकर रीति रिवाज से किया विदा

ख़बर शेयर करें



पिथौरागढ़ पुलिस का एक मानवीय चेहरा सामने आया है जिसने मानवता की मिसाल पेश की है. पुलिस ने एक बच्ची को गोद लिया फिर उसके लिए एक लड़का ढूंढ पूरे रीति रिवाज से उसकी शादी करा दी. इसके बाद से पिथौरागढ़ पुलिस की चारों और तारीफ़ हो रही है.

Ad
Ad


अनाथ बच्ची को गोद लेकर धूमधाम से कराई शादी
पिथौरागढ़ पुलिस ने मानवता की मिसाल पेश की है। एक अनाथ कन्या को पुलिस ने ने न सिर्फ आसरा दिया, बल्कि गोद लेकर अपनी बेटी भी बनाया। उसका भविष्य संवारने को उसके लिए एक लड़का ढूंढा और दुल्हन बनाकर ससुराल के लिए विदा किया. पुलिस के इस नेक कार्य की अब सराहना हो रही है।

दादी ने किया था युवती का पालन पोषण
पिथौरागढ़ पुलिस लाइन में प्रतिसार निरीक्षक के पद पर कार्यरत नरेश चंद्र जखमोला को कुछ समय पहले एक युवती घुमती हुई मिली। उन्होंने जब उससे पूछताछ की तो मालूम हुआ कि वह बलुवाकोट की रहने वाली है। उसके माता-पिता नहीं है। उसका पालन पोषण उसकी दादी ने किया था। दादी का भी दस साल पहले निधन हो गया है।

काम की तलाश में पिथौरागढ़ आई थी युवती
युवती ने बताया कि काम की तलाश में वह पिथौरागढ़ आई है। युवती को देख जखमोला ने उसे गोद लेने का फैसला लिया और पुलिस आधीक्षक, पिथौरागढ़ को भी इसकी जानकारी दी. उन्होंने लड़की को पिथौरागढ़ पुलिस की बेटी बनाकर विवाह कराने की बात कही। लड़की की शादी कराने के लिए उन्होंने रिश्ता ढूंढा और एक थल निवासी विपिन से उसका रिश्ता तय किया.

दुल्हन बनाकर रीति रिवाज से किया विदा
सोमवार को पुलिस लाइन स्थित गौरी हॉल सभागार में रीति-रिवाजों से नरेश चंद्र जखमोला ने युवती का विवाह संपन्न कराया और बेटी को ससुराल के लिए विदा किया। बता दें युवती की शादी के लिए पिथौरागढ़ पुलिस के सभी जवानों और कर्मियों ने आर्थिक सहयोग किया। पिथौरागढ़ पुलिस के इस प्रयासों की लोगों ने खूब सराहना की है