उत्तराखंड के लिए कुत्ता बनकर जरुरत पड़ी तो काटूंगा भी: हरदा

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डोट कॉम

ऐन चुनाव से पहले अमित शाह के हरीश रावत के बारे में दिए गए बयान से चुनावी माहौल गरमा गया है एक जनसभा के दौरान हरीश रावत की लोकप्रियता से घबराकर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय नेता एवं गृहमत्री अमित शाह के इस बयान कि कांग्रेस हरीश रावत को कहां से टिकट देगी कभी यहां से तो कभी वहां से यह धोबी का …. घर का ना घाट का।

इस बयान पर हरीश रावत ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी का शीर्ष नेता अपने विपक्षी पार्टी कांग्रेस के एक कार्यकर्ता को जब इस तरह के नामों से संज्ञा दे रहे हैं तो वह स्पष्ट करना चाहते हैं कि अगर मैं कुत्ता हूं तो उत्तराखंड की चौकीदारी करूँगा और हमारे धर्म शास्त्रों में तो इसे भैरव देवता का अंश माना जाता है यह यह उनकी चौकीदारी करता है। मैं भी उत्तराखंड के लिए तथा उत्तराखंड के को बचाने के लिए कुत्ता बन सकता हूं और इस उत्तराखंड की चौकीदारी करगा जरूरत पड़ने पर इसके लिए भोकने के साथ अगर काटने की जरूरत पड़ेगी तो कटूंगा भी।

अमित शाह के इस बयान के बाद उत्तराखंड के आम लोगों में आक्रोश की भावना दिखाई दे रही है कि किसी पार्टी का नेता दूसरी पार्टी के लिए ऐसे शब्दों का प्रयोग कर रहा है इसके बावजूद हरीश रावत बड़े ही सहजऔर नरम दिल उत्तर देते हुए कह रहे हैं कि वह तो उत्तराखंड यूथ के लिए कुछ भी कर सकते हैं इसके लिए चौकीदारी के अलावा वह भौंकने और काटने का भी काम कर सकते हैं। उन्होंने अमित शाह के लिए किसी भी तरह के कटु शब्दों का भी इस्तेमाल नहीं। प्रचार समाप्त होने से 2 दिन पहले भारतीय जनता पार्टी के स्टार प्रचारकों ने कांग्रेस पर हमला करने के बजाय हरीश रावत पर हमला किया है ।

जिससे राजनीतिक हलकों में ही हो माना जा रहा है कि वह हरीश रावत की लोक प्रियतासे घबराए हुए हैं तथा उन्हें रोकने के लिए उन पर लगातार हमले कर रहे हैं वही जनता हरीश रावत को विभिन्न सर्वे में मुख्यमंत्री के रूप में सबसे अधिक लोगों की पसंद बनते जा रहे हैं जिससे निश्चित रूप से कॉन्गस को लाभ मिलने की संभावना बताई जा रही है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.