हाईवे, सफारी ज़ोन एवम रेस्क्यू सेंटर होगे पीएम के लोकार्पण एवम शिलान्यास की प्रमुख योजनाएँ, सत्ता वापसी के लिए पीएम का देवभूमि पर पूरा फोकस

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

भारतीय जनता पार्टी केंद्र एवं राज्य सरकार में सत्तारूढ़ होने के कारण किसी भी स्थिति में चुनाव से पहले करोड़ों अरबों रुपयों के शिलान्यास एवं लोकार्पण कार्यक्रमों को आयोजित कर जनता का ध्यान डबल इंजन की विकास की ओर आकर्षित करना चाहती है। एक ओर जहां मुख्यमंत्री हर विधानसभा क्षेत्र में लाखों करोड़ों रुपयों के शिलान्यास एवं लोकार्पण कार्यक्रम को अंजाम दे रहे हैं वहीं केंद्र की डबल इंजन सरकार भी प्रदेश में किसी भी कीमत में सत्ता वापसी के लिए सब कुछ झोंक देना चाहती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड पर विशेष फोकस किया हुआ है विगत दिनों 4 दिसंबर को उन्होंने देहरादून में विशाल जनसभा कर लाखों रुपयों की शिलान्यास एवं लोकार्पण कार्यक्रम का शुभारंभ किया वही अब वह है कुमाऊं मंडल के हल्द्वानी में लोकार्पण व शिलान्यास कार्यक्रमों मैं किसी भी तरह की कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती है कहां की जनता को यह लगे की डबल इंजन सरकार लगातार विकास कार्यों में अपना सब कुछ झोंके हुए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगामी 24 दिसंबर को हल्द्वानी के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में विशाल जनसभा को संबोधित करेंगे वही वह इस क्षेत्र के बहुआयामी योजनाओं का लोकार्पण भी कर सकते हैं जिनमें रामपुर रोड का चौड़ीकरण भी शामिल है हल्द्वानी से दिनेशपुर मत कोटा तक इस रोड को 10 मीटर चौड़ा किया जाना है जबकि इससे पहले यह सिर्फ 7 मीटर चौड़ी है। इसके लिए केंद्रीय सड़क निधि से 58 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की गई थी।

इसके अलावा तराई पश्चिमी वन प्रभाग के जसपुर क्षेत्र में वह पर्यटकों के लिए सफारी जॉन शुरू करने की तैयारी में भी है इसके लिए 200 जिप्सों को रजिस्टर्ड भी किया गया है। साथ ही प्रधानमंत्री के कार्वेट भ्रमण के दौरान उन्होंने कार्बेट का पहला रेस्क्यू सेंटर बनाए जाने का संकेत दिया था। कार्बेट पार्क में यह अपने स्तर का पहला रेस्क्यू सेंटर होगा जहां पर हाथियों के अलावा अन्य वन्यजीवों के घायल होने के बाद उनका उपचार किया जा सकेगा। इससे पहले सभी घायल जानवरों को रानी बाग स्थित रेस्क्यू सेंटर लाना पड़ता था ।

कार्बेट पार्क में अपने स्तर का यह पहला रेस्क्यू सेंटर होगा यह भी प्रधानमंत्री के शिलान्यास लोकार्पण कार्यक्रमों का प्रमुख हिस्सा हो सकता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा अमित शाह राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी उत्तराखंड के दौरे पर आ चुके हैं प्रधानमंत्री के 24 दिसंबर के इस दौरे के बाद एक बार फिर से नड्डा और अमित शाह उत्तराखंड में डेरा डाल सकते हैं वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कुमाऊं का यह दूसरा दौरा होगा ।

अधिकांश समय में उन्होंने केदारनाथ और देहरादून को प्राथमिकता दी है। जबकि भाजपा की रणनीति यह है कि वह प्रधानमंत्री के करिश्माई व्यक्तित्व का लाभ लेकर किसी भी तरह से प्रदेश में अपनी सत्ता की वापसी चाहती है। इसके लिए उसने अपने स्टार प्रचारकों रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह गृह मंत्री अमित शाह राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और प्रमुख रूप से प्रधानमंत्री के दौरे तय करने की रणनीति बना ली है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पिछले पांच साल में उत्तराखंड के सात दौरे कर चुके हैं और अब शनिवार को देहरादून आगमन पर उनका आठवां दौरा होगा। सात दौरों में पांच बार प्रधानमंत्री बाबा केदार के दर्शन करने पहुंचे। एक बार वह कुमाऊं स्थित काॅर्बेट नेशनल पार्क में डिस्कवरी चैनल की शूटिंग के लिए आए थे।

उत्तराखंड कब-कब आए पीएम मोदी
03 मई 2017 को केदारनाथ धाम से देश को संबोधित किया
20 अक्तूबर 2017 को केदारनाथ धाम में 700 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास किया
07 नवंबर 2018 को केदारनाथ धाम पुनर्निर्माण कार्यों का अवलोकन
14 फरवरी 2019  कार्बेट नेशनल पार्क में आए थे 
18 मई 2019 को केदारनाथ में दर्शन किए और गुफा में 17 घंटे ध्यान किया
07 अक्तूबर 2021 को ऋषिकेश एम्स में 35 ऑक्सीजन प्लांट का शुभारंभ किया था
05 नवंबर 2021 को केदारनाथ में 120 करोड़ के कार्यों का भूमि पूजन, 400 करोड़ के शिलान्यास

4 दिसंबर को देहरादून में जनसभा के अलावा लोकार्पण और शिलान्यास।

24 दिसंबर को हल्द्वानी के अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में जनसभा के अलावा लोकार्पण और शिलान्यास कार्यक्रम किए जाने हैं।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *