यहाँ न्याय की चौखट पर प्रशिक्षु महिला वकील की मौत#deathondoorofcourt

ख़बर शेयर करें

देहरादून एसकेटी डॉट कॉम

आज की भौतिक युग में लोगों की संवेदनहीनता लगभग खत्म हो चुकी है लोग सिर्फ अपने काम पर ध्यान रखते हैं और अपने मतलब से ही लोगों से बात करते हैं ऐसा ही एक मामला महिला प्रशिक्षु वकील को भारी पड़ गया जब उसे अटैक आने पर अदालत के किसी भी कर्मचारी और वकीलों ने उसकी ओर देखा ही नहीं जिसका खामियाजा उसको जान देकर भुगतना पड़ा

जानकारी के अनुसार एक अधिवक्ता की महिला असिस्टेंट ने एसीजेएम न्यायालय के दरवाजे पर ही प्राण त्याग दिए। वह काफी देर तक दरवाजे के पास ही बेहोश पड़ी रही।

लेकिन किसी कर्मचारी या अधिकारी ने उसकी ओर कोई ध्यान नहीं दिया।घटना मंगलवार दोपहर की बताई जा रही है। बार एसोसिएशन देहरादून के सचिव अनिल शर्मा ने बताया कि खुड़बुड़ा मोहल्ले की रहने वाली 31 वर्षीय रूपा कचहरी परिसर में अधिवक्ता जाहिद के पास काम करती थी।

बीते आठ सालों से वह उनकी सहायक थी और विधि की पढ़ाई भी कर रही थी।बताया कि रूपा मंगलवार को एसीजेएम तृतीय की कोर्ट में किसी काम से गई थी। वहां से निकलते समय अचानक वह दरवाजे पर ही गिर गईं। अनिल शर्मा के अनुसार वह वहां पड़ी रहीं,

लेकिन किसी कर्मचारी या न्यायिक अधिकारी ने उसे देखा तक नहीं।कुछ देर बाद जब वहां अन्य अधिवक्ता पहुंचे तो उन्होंने एंबुलेंस बुलाई और रूपा को अस्पताल लेकर पहुंचे, लेकिन अस्पताल में डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। रूपा की मौत की वजह डॉक्टर हार्ट अटैक बता रहे हैं।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.