यहां पुष्पा कांडपाल ने 2500 महिलाओ को स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से दिलाया एक उचित मंच

ख़बर शेयर करें

पुष्पा कांडपाल जो की मूलतः अल्मोड़ा जिले की रहने वाली हैं
उन्होंने 1998 से सामाजिक क्षे त्र में काम करना शुरू किया।
सुदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्र की लगभग 2500 महिलाऔं को उन्हौने स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से एक उचित मंच दिलाया जहां से उन महिलाओ मै नेतृत्व क्षमता उभर कर आई साथ ही महिलाऔं की सामाजिक आर्थिक स्थिति मै काफी बदलाव आया है


महिला समाख्या प्रोग्राम के अन्तर्गत पुष्पा कांडपाल ने जिला उधम सिंह नगर की 57 महिलाओं को घरेलू हिंसा अधिनियम के अंतर्गत न्याय दिलाने की पैरवी की जबकि जमीनी विवाद,पारिवारिक विवाद,यौन हिंसा के 88 cases मै unhaune पैरवी की।
जिला उधम नगर व जिला नैनीताल में चाइल्ड लाइन में प्रभावित बालकों के संरक्षण व सुरक्षा संबंधित केस भी उनके द्वारा डील किए जा रहे हैं चाइल्ड लाइन में उंहौने ४४ केस निपटाए है।
covid kal mai में भी उनके द्वारा कोविड प्रभावित 27 बालकों को मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना से लाभान्वित करने मै उनकी भूमिका रही।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.