यहां पुुलिस को छापामारी में मिली यूपी के नंबर वाली एक बाइक

ख़बर शेयर करें

रांची: राजधानी के मेन रोड में पिछले शुक्रवार को हुई उपद्व की घटना के एक दिन बाद शनिवार को जहां विभिन्न संगठनों द्वारा किए गए बंद के दौरान पूरे शहर में स्वत: स्फूर्त बंद की स्थिति बनी रही, वहीं आम लोगों ने भी प्रशासन की हिदायतों को मानते हुए अनुशासन का परिचय दिया।

गौरतलब है कि घटना के बाद शहर के विभिन्न इलाकों में धारा 144 लागू की गई थी व जिला प्रशासन द्वारा आम लोगों को बेवजह घरों से न निकलने की अपील की जा रही थी।

इस बीच शनिवार को पुलिस दिन-रात उपद्रवियों तक पहुंचने के लिए साक्ष्य जुटाने व छापेमारी के कार्य में युद्दस्तर पर जुटी रही।

पुलिस ने डेली मार्केट के आसपास की दुकानों में छापेमारी  की। इस दौरान पुलिस को यूपी के नंबर वाली एक बाइक मिली है, जिसे जब्त कर लिया गया।

पुलिस को शक है कि उपद्रवियों ने डेली मार्केट के आसपास की दुकानों में ही पनाह लेने के बाद बवाल किया। वहां पत्थर व हथियार छुपाने की आशंका पर पुलिस ने सभी दुकानों को खंगाला। सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं।

शहर के चिश्तिया नगर निवासी मृतक साहिल के पिता मो. अफजल ने डेली मार्केट  थाने में दिए आवेदन बेटे की हत्या की निष्पक्ष जांच कर दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है।

वहीं, उपद्रव में घायल SSP सुरेंद्र झा ने शनिवार को मीडिया से कहा कि उपद्रवियों की पहचान की जा रही है।

घटना के विरोध में स्वत: स्फूर्त बंद रही रांची

पुलिस-प्रशासन समेत आम लोगों पर हुए पथराव, दुकानों में तोड़फोड़ व आगजनी के विरोध में शनिवार को रांची बंद असरदार और शांतिपूर्ण रहा। शहर में लगभग सभी दुकान नहीं खुली।

अन्य संस्थान स्वत: स्फूर्त बंद रहे। श्री महावीर मंडल, रांची जिला दुर्गा पूजा समिति, श्री चैती दुर्गा पूजा महासमिति, रामनवमी श्रृंगार समिति, विहिप, चैंबर ऑफ कॉमर्स, सोना-चांदी व्यवसायी समिति आदि द्वारा बुलाए गए बंद के चलते स्कूल-कॉलेज, अन्य शिक्षण संस्थान के अलावा कई पेट्रोल पंप भी नहीं खुले।

देर शाम तक रांची की सड़कों से सिटी बसें, टेंपो आदि गायब रहे। दिन में रांची से दूसरे शहरों के लिए सवारी न रहने से कम बसें चलीं।

हालांकि रात में लंबी दूरी की बसें चलीं। सुरक्षा के लिए पुलिस संग रैफ, आईआरबी, जैप की कंपनियां मुस्तैद रहीं।

हिरासत में लिये गये लोगों के नाम का खुलासा नहीं

प्राथमिकी के बाद पुलिस ने संबंधित इलाके में छापेमारी शुरू कर दी है। पुलिस ने कुछ लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में भी लिया है।

आरोपियों की पहचान के लिए पुलिस शहर के मेन रोड में लगे विभिन्न स्थानों के CCTV फुटेज और विभिन्न स्रोतों से प्राप्त वीडियो व अन्य सूचनाओं के आधार पर आरोपियों की पहचान करने में जोर-शोर से जुटी है।

तकनीकी साक्ष्यों को भी पुलिस एकत्र कर रही है ताकि उसके आधार पर उपद्रवियों की पहचान की जा सके व उन्हें अपनी गिरफ्त में लेकर उनसे पूछताछ की जा सके।

रिम्स से तीन को मिली छुट्टी

हिंसा के बाद 13 लोगों को रिम्स लाया गया था। तीन को छुट्टी दे दी गई है। आठ अभी भर्ती हैं। इसमें ट्रॉमा सेंटर में भर्ती नदीम अंसारी की स्थिति गंभीर है।

उन्होंने बताया कि 24 वर्षीय शाहिल और 22 वर्षीय कैफी की शुक्रवार रात ही मौत हो चुकी है। दोनों का पोस्टमार्टम शुक्रवार देर रात करवाकर रिपोर्ट पुलिस को सौंप दी गयी है।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.