हल्द्वानी ब्रेकिंग-अपात्रों को अब सताने लगा है भय, 23 दिन में सरेंडर किये 1850 राशन कार्ड

ख़बर शेयर करें

हलद्वानी एसकेटी डॉट कॉम

उत्तराखंड सरकार के द्वारा दिए जा रहे न्यूनतम मूल्य के राशन पर अब सख्ती कर दी गई है अंत्योदय और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के तहत बने सफेद कार्डों की जांच 1 जून से विभागीय स्तर पर की जाएगी। इस जांच में जो भी परिवार अथवा कार्ड धारक अपात्र पाया जाएगा उस से अब तक के लिए हुए राशन की 10 गुना वसूली की जाएगी

पुलिस कार सरकार के इस अभियान के बाद नैनीताल जिले में अपात्र ओं को अब भय सताने लग गया है 1 मई से शुरू हुए इस अभियान में अब तक जिले में 1850 अपात्र राशन कार्ड धारको ने अपने कार्ड विभाग को जमा कर दिए हैं। इसके बाद लगातार कार्ड जमा करने की संख्या बढ़ने लगी है 31 मई तक चलने वाले इस अभियान में कितने कार्ड जमा होते हैं यह देखने वाली बात है इसके बाद भी अगर कोई अपात्र अपनी पहचान छुपाता हुआ पकड़ा जाता है तो उस से 10 गुना अधिक भाव से वसूली की जाएगी

उत्तराखंड सरकार द्वारा चलाए जा रहे इस अभियान के तहत अब केंद्र सरकार के राष्ट्रीय खाद्य मिशन के तहत सिर्फ उन्हें लोगों को राशन दिया जाएगा जो इसके मानको मे फिट बैठेंगे। उन राशन कार्ड धारकों से 10 गुना वसूली की जाएगी जो 1 जून के बाद इस जांच में अपात्र पाए जाएंगे।

उन लोगों को इस कैटेगरी के राशन के लिए पात्र माना गया है जिनकी मासिक आमदनी 15,000 से अधिक है इसके अलावा उनके पास सिंचित भूमि 2 हेक्टेयर से अधिक है उनके पास चौपाइयां वाहन है।

इसके अलावा सरकार ने कई अन्य मानक रखे हैं।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.