डीएलएम पर मनमानी का आरोप स्टोन क्रेशर एसोसिएशन में रोष

ख़बर शेयर करें

हलद्वानी एसकेटी डॉट कॉम

स्टोन क्रेशर एसोसिएशन ने वन विकास निगम की एक डीएलएम पर मनमानी करने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार की गजट नोटिफिकेशन एवं राज्य सरकार के शासनादेश को दरकिनार कर 185 कुंटल के आदेश को पलट कर रख दिया है। स्टोन क्रेशर एसोसिएशन की ओर से विज्ञप्ति जारी कर कहा गया है कि केंद्र सरकार ने 185 कुंटल मई वाहन के हार के उठने की निकासी का आदेश जारी किया था जिसे राज्य सरकार ने भी माना था और यह आदेश 13 मार्च को राज्य सरकार ने आचार संहिता के लागू होने के चलते देरी से जारी किया था। जबकि केंद्र सरकार ने यह आदेश वर्ष 2018 में ही लागू कर दिया था इसके अतिरिक्त 5% अतिरिक्त भार ढोने ढूंढने की भी छूट दी गई थी।

जिला खनन अनुश्रवण समिति ने भी इसे 6 जनवरी 2022 को लागू करने का निर्णय लिया था लेकिन चुनाव आचार संहिता के कारण इसे मार्च 13 2022 को लागू किया था लेकिन अचानक एक दिन बाद इस निर्णय को पलट दिया गया इसके पीछे डीएलएम ने कोई कारण नहीं बताया है स्टोन क्रशर एसोसिएशन ने इस पर आपत्ति जताते हुए इसे डी एल एम द्वारा स्टोन क्रेशर पर दबाव बनाने की रणनीति माना गया है तथा इससे कई तरह की विसंगतियां पैदा होने की संभावना है

स्टोन क्रेशर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने डी एल एम कि इस हठधर्मिता वाले फैसले की निंदा की है एक स्वर से इसे निस्तारण करने की मांग की है

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.