#lottorynewsखुल गए किस्मत के बंद दरबाजे , नौकरी के कर्ज लेकर विदेश जाने वाले ओटो चालक की निकली 25 करोड़ की लॉटरी जानिए पूरी खबर

ख़बर शेयर करें

केरल एजेंसी एसकेटी डॉट कॉम

कहते हैं कि जब ईश्वर देता है तो छप्पर फाड़ के ही देता है और किस्मत के बंद दरवाजे खुल जाते हैं ऐसा ही कुछ केरल के श्रीवाराहम निवासी ऑटो चालक जो लॉटरी का लती था और कई हजार रुपये लॉटरी मैं दांव लगाने के लिए खर्च कर दिए थे लेकिन आज तो कुछ हासिल नहीं हुआ जब उसने अपना ऑटो रिक्शे का काम छोड़कर मलेशिया में जाकर सैफ का काम शुरू करने का निर्णय लिया तो उसने बैंक में कर्ज के लिए आवेदन किया था कि वह वहां जाकर अपना काम शुरू कर सकें .

विगत शनिवार को फिर उसने एक लॉटरी का टिकट खरीदा मैंने सोचा कि आखरी बार खरीद लेता हूं इसके बाद तो मलेशिया ही जाना है फिर कहां टिकट खरीद पाऊंगा. इस बार उसने एक टिकट खरीदा लेकिन इस बार उसे यह नंबर पसंद नहीं आया और उसने इसे छोड़कर दूसरा टिकट खरीद लिया इस टिकट का नंबर TJ750605 था. शनिवार को उसे उसने टिकट खरीदा और शनिवार को ही उसे बैंक वालों का फोन आया कि आप का कर्ज पास हो गया है और अब आप अपना कर्ज ले जा सकते हैं लेकिन यहां तो किस्मत को कुछ और ही मंजूर था. वह सोमवार को कर्ज का पैसा लेने के लिए बैंक जाने वाला था और मलेशिया जाने की तैयारी करने लगा था.

लेकिन यहां तो उन्होंने कुछ और ही थी उसकी किस्मत पलटने वाली थी उसने जो टिकट खरीदा उस पर ही उसे ₹25करोड़ का लॉटरी निकल गया इसके बाद तो जैसे उसे मन की मुराद मिल गई हो लॉटरी निकलने के बाद अब उसे टैक्स काट के ₹15करोड़ मिलेंगे. अब अनूप ने फैसला लिया है कि वह मलेशिया नहीं जाएगा. उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा कहते हैं कि किस्मत के खेल निराले मितवा जब किस्मत बदलती है तो ऐसे बदलती है जो कर्ज ले रहा हो उसे 15 करोड़ रुपए 1 साल मिल जाए तो इसे ही कहते हैं कि भगवान जब देता है तो छप्पर फाड़ के देता है सच की तोप अनूप को ढेर सारी बधाई देती है.

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.