वन विभाग व एसओजी की टीम ने वन्य जीव की खाल तस्करी मामले में तीन को किया गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें

वन्य जीव तस्करी को लेेेेकर राज्य में कई बार मामले सामने आते रहते है। वन्य जीव की खाल की तस्करी में तराई केंद्रीय वन प्रभाग और एसओजी की टीम 20 अप्रैल को गुलदार के खाल के साथ एक व्यक्ति की गिरफ्तारी के बाद पूरे मामले में 3 लोगों की संलिप्तता पाए जाने पर वन विभाग की टीम ने तीन अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया है ।उप वनक्षेत्राधिकारी सतीश चंद्र रीखाड़ी का मेरे दूरभाष पर फोन आया कि खड़क सिंह की लोकेशन भारत नेपाल बॉर्डर पर मिल रही है। कृपया आप तुरंत खटीमा सुरई रेंज पहुंचे। मैं तुरंत अपने स्टाफ को लेकर सुरई रेंज पहुंचा वहां पहुंचकर हमारे द्वारा दो टीमें बनाई गई समय लगभग 5 बजे हमारे द्वारा खड़क सिंह को भारत-नेपाल बॉर्डर पर गिरफ्तार कर लिया गया उसकी निशानदेही पर बग्गा 54 में पूरन सिंह की सेलर पर दबिश देकर पूरन सिंह धामी और ललित बिष्ट को भी गिरफ्तार कर लिया।क्योंकि खड़क सिंह द्वारा बताया गया कि ललित बिष्ट ही गुलदार की खाल को पिथौरागढ़ से लेकर बग्गा 54 खटीमा आया था गुलदार की खाल लगभग 15 दिन पूरन सिंह के सेलर के अंदर रही उसके पश्चात खड़क सिंह ने दीनानाथ से खाल बेचने के लिए संपर्क किया था तीनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर सुरई रेंज लाया गया तत्पश्चात आवश्यक कार्यवाही कर इनको हल्द्वानी सुरक्षा दल कार्यालय ले जाया जा रहा है


दबिश देने वाली टीम

कैलाश तिवारी प्रभारी वन सुरक्षा दल।
तराई केंद्रीय वन प्रभाग रुद्रपुर
नईम अहमद वन दरोगा सुरक्षा दल संदीप सूठा वन दरोगा सुरक्षा दल प्रकाश तिवारी वन दरोगा सुरक्षा दल दिनेश चंद्र शाही वन दरोगा सुरक्षा दल राहुल कनवाल

सुरई रेंज टीम
सतीश रिखाडी उपवन क्षेत्राधिकारी राजू दास वन दरोगा मुकेश कुमार वनरक्षक अमर सिंह वनरक्षक अमर सिंह गढ़िया वनरक्षक अजमत खान वन दरोगा रामेश्वर दयाल वन दरोगा तिलोक राम वनरक्षक बाबूराम वन दरोगा बृजेश कुमार वनरक्षक सुखदेव मुनि उप क्षेत्राधिकारी हेमचंद जोशी वनरक्षक टीम में सम्मिलित थे

Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.