चुनावी महाकुम्भ- दिव्यांग और गर्भवती महिलाओं को उनके मताधिकार के लिए प्रशासन कर रहा है यह व्यवस्था

ख़बर शेयर करें

उत्तरकाशी एसकेटी डॉट कॉम

जिस तरह से धार्मिक अनुष्ठान अनुष्ठान कुंभ का मेला 12 वर्ष माता है उसी तरह से लोकतंत्र का महाकुंभ आम चुनाव हर 5 साल में होते हैं। इस महाकुंभ में अपने वोट की अवधि से जिस तरह से अपना प्रतिनिधि चुना जाता है उसके बाद उसी से अपने विकास की शिक्षा की उम्मीद की जा सकती है। लेकिन इसके बावजूद कई ऐसे मतदाता होते हैं जो विभिन्न व्याधियों अथवा दिक्कतों के चलते अपने मतदान का प्रयोग नहीं कर पाते हैं।

विषम भौगोलिक परिस्थितियों वाले जिलों में तो यह दिक्कत बहुत ही ज्यादा रहती है जहां मतदान केंद्र तक पहुंचने के लिए 3 से 5 किलोमीटर तक की दूरी तय करनी पड़ती है। पर्वती जिलों में जहां ठंड के समय पर भारी होती है वहां तो यह दिक्कत ज्यादा ही रहती है। बर्फबारी बर्फबारी वाले इलाकों में दिव्यांग जनों और गर्भवती महिलाओं को पोलिंग स्टेशन तक ले जाने के लिए प्रशासन द्वारा डोली और डंडी कंडी की व्यवस्था की जा रही है इसके लिए प्रशासन द्वारा पूरी व्यवस्थाएं करने का दम भरा जा रहा है। उत्तरकाशी जिले के दूरस्थ क्षेत्रों भटवाड़ी चिन्यालीसौड़ ढूंढा तथा पुरोला जैसे दूरस्थ क्षेत्रों मैं गर्भवती महिलाओं और 16 फरवरी के आसपास होने वाले प्रसव वाली महिलाओं के लिए यह व्यवस्था भी की जा रही है कि उन्हें पोलिंग स्टेशन तक डोली के द्वारा ले जाया जाएगा और उसके बाद उन्हें वापस घर छोड़ा जाएगा

साथ ही जिले की सभी गर्भवती महिलाओं की सूची भी तैयार की गई है। ऐसे सभी गर्भवती और दिव्यांग मतदाता अगर वह बूथ तक खुद नहीं आ पा रहे हैं तो उनके लिए प्रशासन की ओर से डोली की व्यवस्था की जा रही है। उत्तरकाशी जिले में 4216 महिला मतदाता ऐसी हैं जो गर्भवती हैं और इनमें भी 754 का प्रसव 16 फरवरी तक होना है। साथ ही जिले में 3255 दिव्यांग मतदाता हैं, इन्हें भी बूथ तक पहुंचाने की व्यवस्था की जा रही है। 

उत्तरकाशी जिले में गर्भवतियों की संख्या 
ब्लॉक          गर्भवती महिलायें       16 फरवरी तक प्रसव तिथि वाली महिलायें 

भटवाड़ी            801                             166
चिन्यालीसौड़      660                             119
डुंडा                748                              135
मोरी                638                               90  
नौगांव              968                              164
पुरोला              421                                80

निर्वाचन आयोग  के निर्देश हैं कि दिव्यांग मतदाताओं की  सहायता के लिए उत्तरकाशी जिले में भी दिव्यांग बूथ बनाने के साथ डोली की व्यवस्था की जा रही है। इसके लिए उत्तरकाशी को मॉडल जनपद बनाने की भी योजना तैयार की है।

मयूर दीक्षित जिला निर्वाचसन अधिकारी उत्तरकाशी

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.