नोटों की खान के तौर पर मशहूर आईएएस अधिकारी के कई ठिकानों पर ई डी ने की छापेमारी 19 करोड़ से अधिक के नोट हुए बरामद

ख़बर शेयर करें

धनबाद रांची एजेंसी एसकेटी डॉट कॉम।

झारखंड मैं अवैध खनन के मामले में ईडी ने छापेमारी कर करीब 19 करोड़ रुपए के नोट मिलने की बात सामने आई ह

है। झारखंड की आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल के नजदीकी राजनीतिज्ञों और उनसे जुड़े हुए लोगों के कई ठिकानों पर ईडी ने एक साथ छापेमारी की। छापेमारी में पूजा सिंघल के करी बीसीए के घर से 17 करोड़ ₹100 की नकदी व 8 करोड़ की अचल संपत्ति बरामद हुई है ईडी की टीम ने नोट गिनने के लिए मशीन मंगाई और उन्हें शाम को बक्सों में भरकर बस से ले गए

अपने पति अभिषेक झा के साथ आईएएस पूजा सिंघल

देश के करीब 15 ठिकानों पर ईडी ने एक साथ छापेमारी की जिनमें झारखंड के मधुबनी रांची धनबाद गुरुग्राम फरीदाबाद राजस्थान के जयपुर कोलकाता बिहार तथा एनसीआर के कई हिस्सों में एक साथ छापेमारी की हालांकि ईडी ने 19 करोड़ की नगदी मिलने की अधिकारिक पुष्टि नहीं की है लेकिन जिस तरह से इतनी बड़ी नकदी मिली है उससे कहीं न कहीं इस मामले में बड़ी कार्रवाई माना जा रहा।

आईएस पूजा ससुर कामेश्वर झा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसके अलावा पूजा सिंघल के व्यवसाई अभिषेक झा का हॉस्पिटल पल्स पर भी छापेमारी की गई। पूजा सिंघल के पति अभिषेक झा के घर पर भी छापेमारी की गई है। यह पल्स हॉस्पिटल उनके व्यवसाय पति का है। आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल कि अभिषेक झा के साथ दूसरी शादी है इससे पहले उन्होंने अपने आईएएस अधिकारी राहुल पुरवार से तलाक ले लिया था।

बिहार में मुख्यमंत्री के भाई एवं उनके करीबी लोगों को पौड़ी की भाव से खाने आवंटित करने के आरोप भी पूजा सिंगल पर लगे हैं इसके अलावा मनरेगा के अट्ठारह करोड़ के घोटाले के दौरान यह विभाग पूजा सिंघल के पास था उस दौरान वहां भारतीय जनता पार्टी की सरकार थी। पूजा सिंघल के बारे में माना जाता है कि सरकार किसी की भी हो हर सरकार में वह बड़ी हस्ती के तौर पर जानी जाती है।

छापेमारी के दौरान मौजूद सुरक्षाकर्मी

छापा इतना बड़ा है कि ईडी के अधिकारियों ने एक साथ मुंबई कलकत्ता बिहार तथा राजस्थान के अलावा उत्तर प्रदेश में करीब 20 ठिकानों पर छापेमारी की है। मुख्यमंत्री शिबू सोरेन ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का यह एक नया ट्रेंड चल रहा है वह आगामी दिनों में ग्राम प्रधान व अन्य लोगों के घरों में भी छापेमारी कर सकती है और जो लोग उनके प्रभाव मैं नहीं आते हैं उनके साथ यह कार्रवाई होने में कोई शक नहीं रहेगा।

पूजा सिंघल के पति अभिषेक झा के इस हॉस्पिटल में भी मारा गया छापा

खूंटी जिले में मनरेगा के एक घोटाले में ₹180000000 के गबन का मामला आया था उस दौरान वहां की उपायुक्त पूजा सिंघल थी तथा कमीशन का पैसा सीधे उपायुक्त कार्यालय तक समझता था इस मामले की भी अदालत म

आदेश के बाद जांच चल रही है इसके अलावा कठोतिया कोल माइंस का एक मामला भी चल रहा है जिसमें जंगल की बेशकीमती 83 एकड़ जमीन निजी कंपनी को दिए जाने का मामला है। पलामू जिले के इस बहुचर्चित मामले के दौरान वहां की उपायुक्त भी पूजा सिंघल थी।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.