covid-19 new symptoms: भारत में भी बढ़ रहा चीन वाला कोरोना वैरिएंट! छींक-सिरदर्द जैसे ये 16 लक्षण दिखें तो हो जाएं अलर्ट

ख़बर शेयर करें

सांकेतिक फोटो (Image credit: Getty images)

covid-19 new variant symptoms: कोविड-19 के बढ़ते हुए मामलों ने एक बार फिर दुनिया की चिंता बढ़ा दी है. कोरोना से लोगों को थोड़ी राहत मिली ही थी कि फिर से चीन, जापान, अर्जेंटीना, दक्षिण कोरिया, अमेरिका और ब्राजील जैसे देशों में केस बढ़ने शुरू हो गए हैं. मरीजों के बढ़ते हुए आंकड़ों को देखते हुए भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी मीटिंग बुलाई जिसमें कई अहम फैसले लिए गए. चीन में कोविड-19 मामलों में उछाल के लिए जिम्मेदार ओमिक्रॉन के बीएफ.7 वैरिएंट (BF.7 variant of Omicron) के चार मामले भारत में भी पाए गए हैं. गुजरात में जो 61 वर्षीय एनआरआई महिला कोविड पॉजिटिव पाई गई है उसे वैक्सीन की तीन डोज लगी हुई थीं. 

कोरोनावायरस लगातार म्यूटेट हो रहा है और म्यूटेशन के कारण इसके लक्षण भी बदल रहे हैं. कई मामलों में जो लोग वैक्सीनेशन करा चुके हैं वे लोग भी कोविड पॉजिटिव हो रहे हैं. दरअसल, कई ऐसे लक्षण हैं जिन्हें कोई भी इंसान सामान्य मानकर अनदेखा कर देता है लेकिन वे लक्षण कोरोना के भी हो सकते हैं. हेल्थ स्टडी ZOE ने कोरोना के नए लक्षणों के बारे में बताया है जो कोरोना के मरीजों में देखे जा रहे हैं.

हेल्थ स्टडी ने मरीजों के आधार पर बताए लक्षण

Express.co.uk के अनुसार, रिसर्च बताती है कि महामारी की शुरुआत के बाद से ZOE लगातार कोविड के लक्षणों के बारे में यह जानकारी दे रहा है कि समय के साथ लोगों में लक्षण किस तरह बदल रहे हैं. हर वायरस की तरह SARS-CoV-2 कोरोनावायरस जो COVID-19 का कारण बनता है, फैलने की क्षमता और इसके लक्षणों के कारण म्यूटेट हो रहा है. नीचे बताए हुए कोविड-19 के सबसे आम लक्षण हैं जिन्हें अनदेखा नहीं करना चाहिए.

– गले में खराश
– छींक
– बहती नाक
– बंद नाक
– बिना कफ वाली खांसी
– सिरदर्द
– कफ के साथ खांसी
– बोलने में परेशानी
– मांसपेशियों में दर्द 
– गंध ना आना
– अधिक बुखार
– कंपकंपी के साथ बुखार
– लगातार खांसी
– सांसों लेने में समस्या
– थकान महसूस होना
– भूख में कमी
– डायरिया
– बीमार होना

बहुत आम हो गया है यह लक्षण

ZOE हेल्थ स्टडी के मुताबिक, गंध की कमी और सांस लेने में लकलीफ होना कोविड-19 के बीएफ-7 वैरिएंट के कॉमन लक्षण हैं. कोरोना के अन्य वैरिएंट में भी यह सबसे कॉमन लक्षण था. एनोस्मिया कोविड-19 का एक मुख्य संकेत हुआ करता था लेकिन जिन लोगों को कोविड हो रहा है उनमें से सिर्फ 16 प्रतिशत लोग ही इसे अनुभव कर रहे हैं.

लक्षण दिखें तो क्या करें?

नेशनल हेल्थ सर्विस का कहना है कि कई लोग पांच दिन बाद भी दूसरों में संक्रमण नहीं फैलाते लेकिन कुछ लोग संक्रमित होने के 10 दिन बाद तक संक्रमण फैला सकते हैं. इसलिए जिन लोगों को कोई लक्षण नजर आ रहे हैं उन्हें अनदेखा करने की जगह पांच दिन तक अन्य लोगों के संपर्क में आने से बचना चाहिए और कम से कम 10 दिनों तक बुजुर्ग-बच्चों या बीमार लोगों से मिलने से बचना चाहिए.

सावधान रहने की जरूरत

अपोलो हॉस्पिटल की एमडी डॉ. संगीता रेड्डी (Dr. Sangita Reddy) के मुताबिक, “भारत में कोविड वैक्सीनेशन अभियान और इफेक्टिव वैक्सीन को देखते हुए चीन में कोविड-19 के बढ़ने मामलों से घबराने की जरूरत नहीं है. हमें चीन से आने वाली फ्लाइट्स के के संबंध में नीतियों पर तुरंत काम करना चाहिए. चीन में फैला वर्तमान COVID न केवल चीन के लिए एक दुखद त्रासदी है, बल्कि वैश्विक आबादी को भी बड़े जोखिम में डाल सकता है.

एंटी टास्क फोर्स के वरिष्ठ सदस्य और कोविड टीकाकरण अभियान के प्रमुख डॉ. एनके अरोड़ा के मुताबिक, भारत को चीन में बढ़ते मामलों से डरने की जरूरत नहीं है लेकिन सावधानी बरतनी काफी जरूरी है. भारत में बड़े स्तर पर वैक्सीनेशन हो चुका है जिसमें बुजुर्ग, युवा और कम उम्र के बच्चे भी शामिल हैं.

Ad Ad Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.