कांग्रेस का विधायक बचाओ अभियान एअरलिफ्ट होंगे दूरस्थ क्षेत्र के विधायक

ख़बर शेयर करें

देहरादून एसकेटी डॉट कॉम

कांग्रेस के राष्ट्रीय आलाकमान को लगता है कि उत्तराखंड गोवा और पंजाब में कांग्रेस की सरकार बन सकती है। अपने आंतरिक सर्वे में पार्टी ने यह पाया कि तीनों प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के पूरे आसार हैं लेकिन सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के द्वारा किसी भी कीमत पर सरकार बनाने की इरादे को लेकर जिस तरह से कांग्रेसमे भय क्का वातावरण है। और जिस तरह से वर्ष 2017 में गोवा और मणिपुर में अल्पमत होने के बावजूद भाजपा ने निर्दलीय कांग्रेस के विधायकों में तोड़फोड़ करा कर अपनी सरकार बना ली थी उसी भाई को देखते हुए कांग्रेस ने इस बार अपने विधायकों को इस तोड़फोड़ से बचाने के लिए पार्टी के क्षत्रप को इसकी जिम्मेदारी दे दी है

पार्टी आलाकमान ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को उत्तराखंड कर्नाटक में कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को गोवा तथा पार्टी के दिल्ली के पूर्व वरिष्ठ नेता अजय माकन को पंजाब का जिम्मा सौंपा है।

अजय माकन जहां पंजाब रवाना हो चुके हैं वहीं भूपेश बघेल विगत रात्रि देहरादून पहुंच चुके हैं और उन्होंने सभी विधायकों को एकजुट करने के लिए उनसे वार्ता शुरू कर दी है तथा पर्वती क्षेत्र से देहरादून पहुंचने में लगने वाले समय को देखते हुए विजई होने वाले विधायकों को एअरलिफ्ट कर देहरादून एकत्रित करने और उसके बाद पंजाब या राजस्थान में एक साथ रखने का निर्णय लिया है।

भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री एवं वर्ष 2016 में हरीश सरकार को अपदस्थ करने में मुख्य भूमिका निभाने वाले कैलाश विजयवर्गीय के देहरादून में सक्रिय होने और उनकी पूर्व मुख्यमंत्री एवं तेजतर्रार भाजपा के नेता रमेश पोखरियाल निशंक के साथ चर्चा करने के बाद अब भाजपा चुनाव के परिणाम आने के तुरंत बाद एक्टिव होने की संभावना है उनके मिशन के तहत वह बहुमत से कम होने के बाद अपने फार्मूले को लागू करने के लिए मुहिम शुरू कर देंगे और इसके लिए उन्होंने विगत 2 दिनों में कई निर्दलीय और छोटे दलों के नेताओं से संपर्क साधा है इनकी बिजय होने के बाद उन्हें एकत्रित करने की योजना है

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी सह प्रभारी स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष के साथ सभी सदस्यों से भूपेश बघेल ने वार्ता की

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.