चैंपियन को चैलेंज -पत्रकारों के संगठन एवम जनता हुई लामबन्द

ख़बर शेयर करें

खानपुर एसकेटी

पिछले दिनों पत्रकारों से यार अमर्यादित भाषा में बात करने वाले खानपुर के विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन के लिए आगामी 2022 मिथक टूटने वाला भी हो सकता है। विगत 20 वर्षों में किसी ने भी उनके खिलाफ इस तरह से हल्ला नहीं बोला था। अपने विवादित बयानों के कारण हमेशा सुर्खियों में रहने वाले कुमार प्रणव सिंह चैंपियन को इस बार जमीन दिखाने का फैसला ले लिया गया है पत्रकारों एवं जनता की ओर से उनके किसी भी कार्यक्रम को तवज्जो नहीं देने का फैसला लिया गया है।


पत्रकार उमेश कुमार के हल्ला बोल के बाद पिछले 20 वर्षों का जो मिथक था वो अब टूट चुका है। आम जनता से लेकर पत्रकारों ने विधायक कुँवर प्रणव की तानाशाही के खिलाफ खुलकर बोलना शुरू कर दिया है।

आम जनता औऱ पत्रकारों को डराने धमकाने औऱ राजशाही की धौंस दिखाने वाले विधायक कुँवर प्रणव चैम्पियन को वरिष्ठ पत्रकार उमेश कुमार ने करारा जवाब दिया है।,जिंसके बाद अब रुड़की प्रेस क्लब से लेकर लक्सर , खानपुर आदि क्षेत्रों के पत्रकार संगठनों ने भी कुँवर प्रणव का खुलकर विरोध करना शुरू कर दिया है। यहाँ तक कि अब न तो भाजपा के इस विधायक की कोई प्रेस कॉन्फ्रेंस कवर की जाएगी न ही कोई कार्यक्रम। बीते दिनों अपनी बत्तमीजियो को छुपाने के लिए पत्रकारों पर ही सवाल उठाने वाले इस विधायक के खिलाफ अब सभी संगठन एकजुट हो गए हैं।

दरअसल वरिष्ठ पत्रकार उमेश कुमार ने चेम्पियन को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि आज तक आम जनता औऱ पत्रकारों से जो भी बतममीजीया की गई हैं जनता भी अब बत्तमीजी पर उतरेगी औऱ 2022 में ऐसा सबक सिखाएगी कि राजशाही औऱ विधायकी का सारा घमंड चकनाचूर हो जाएगा।

उमेश कुमार ने कहा कि जनता से बड़ा कोई नही होता , कुँवर प्रणव के घमंड औऱ तानाशाही का जवाब जनता देगी। किसी के साथ भी अन्याय सहन नहीं किया जाएगॉ। कुँवर प्रणव को सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए नही तो 2022 में वैसे भी जनता ऐसे विधायक को कभी माफ नहीं करने वाली है औऱ हमेशा के लिए बेदखल करने वाली है।

आपको बता दें कि कुँवर प्रणव के खिलाफ बोलने का जो मिथक इन 20 वर्षों में नही टूट पाया , पत्रकार उमेश कुमार ने खानपुर विधानसभा क्षेत्र में जाकर , हल्ला बोलकर वो मिथक तोड़कर दिखाया है।

कुलमिलाकर अब कुँवर प्रणव की आने वाले समय मे औऱ भी मुश्किलें खड़ी होने वाली हैं क्योंकि जनता के अंदर अब जोश भी है ,जुनून भी है औऱ 2022 में इस सीट पर परिवर्तन का जज्बा भी है क्योंकि अब लड़ाई आम जनता औऱ राजशाही की धौंस दिखाने वाले विधायक कुँवर प्रणव के बीच की है । अब देखना ये होगा कि खानपुर की इस सीट पर प्रजातंत्र औऱ राजतंत्र में किसकी जीत होती है??

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *