अध्यक्ष और सचिव की भी हो जांच, भुवन कापड़ी ने उठाई आवाज

ख़बर शेयर करें



उत्तराखंड में UKSSSC घोटाले में अब आयोग और सचिव की भूमिका की भी जांच की मांग होने लगी है। कांग्रेस नेता और उत्तराखंड विधानसभा में उप नेता प्रतिपक्ष भुवन कापड़ी ने मांग की है कि आयोग के अध्यक्ष और सचिव की भी जांच होनी चाहिए।

मीडिया से बातचीत के दौरान भुवन कापड़ी ने कई गंभीर सवाल उठाए हैं। कापड़ी ने मांग की है कि बिना वीडियो रिकार्डिंग के एग्जाम पेपर्स की प्रिटिंग की जांच होनी चाहिए। आयोग के अध्यक्ष और सचिव से पूछा जाना चाहिए कि बिना वीडियो रिकार्डिंग के प्रतियोगी परिक्षाओं के एग्जाम पेपर्स कैसे प्रिंट होते रहे?


भुवन कापड़ी ने आयोग के अध्यक्ष और सचिव को बेदाग छोड़े जाने पर भी सवाल उठाए हैं। यही नहीं अपनी ही पार्टी के सरकार के दौरान 2016 में भी आयोग के अध्यक्ष के इस्तीफा दे देने और बेदाग बच निकलने पर भी उन्होंने सवाल खड़े किए हैं।


भुवन कापड़ी ने कहा है कि सभी मामलों की जांच होनी चाहिए और सबसे पहले आयोग और अध्यक्ष और सचिव की जांच होनी चाहिए। भुवन कापड़ी ने हालांकि एसटीएफ की जांच पर संतुष्टि जताई है लेकिन उन्होंने एक बार फिर से मांग की है कि इस मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए।

भुवन कापड़ी ने कहा है कि इस पूरे नेटवर्क का जाल अन्य राज्यों में भी है ऐसे में सीबीआई जांच बेहतर होगी। वहीं मास्टरमाइंड माने जा रहे हाकम सिंह के बड़े अधिकारियों और नेताओं के साथ तस्वीरों के आधार पर भी भुवन कापड़ी ने इस पूरे घोटाले की सीबीआई जांच की मांग की है।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.