चाची-भतीजे का अफेयर, चाचा की हत्या कर दर्ज कराई लापता होने की रिपोर्ट, 10 महीने बाद नरकंकाल मिला तब हुआ खुलासा

ख़बर शेयर करें

मध्य प्रदेश के सतना जिले में रिश्तों का एक बार फिर कत्ल हुआ है। चाची का भतीजे से इश्क पति पर भारी पड़ गया। आशिकी में चूर चाची ने भतीजे के साथ मिलकर पति की हत्या कर दी। इसका नरकंकाल दस माह बाद मिला, तब जाकर पुलिस को मामले का खुलासा कर सकी।

सतना जिले के सिंहपुर थाना क्षेत्र के उसरहा गांव में 16 जून को मिले नरकंकाल का सच पुलिस ने उजागर कर दिया। सिंहपुर थाना प्रभारी एवं उनकी टीम ने अंधे कत्ल की गुत्थी महज 48 घंटे में सुलझा दी। कंकाल पर बंधे वजनदार पत्थर से शक था कि यह मामला हत्या का है। जैसे ही गुमशुदगी की फाइल खुली, हत्या का राज खुलने में कोई देर नहीं लगी। फिलहाल इस मामले में हत्या के आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

रिश्ते में चाची-भतीजा हैं प्रेमी
हत्या के मामले में पत्नी ने पुलिस को बताया कि पति उसके प्रेम प्रसंग के आड़े आ रहा था, जिससे प्रेमी के साथ मिलकर हत्या की साजिश रची और 21 अक्टूबर 2021 को हत्या करने के बाद शव को ठिकाने लगा दिया। आरोपी उर्मिला कुशवाहा और उसका प्रेमी कैलाश कुशवाहा है, जिसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनों आपस में चाची-भतीजा हैं।

जानकारी के मुताबिक, कैलाश और उर्मिला ने मिलकर योजना बनाई की शिवकुमार कुशवाहा को किसी बहाने कुएं तरफ ले आना है। फिर दोनों मिलकर हत्या कर देंगे ताकि उनके मिलने में कोई रोक ना रहे। योजना के मुताबिक, 21 अक्टूबर 2021 की रात 11 बजे कैलाश के बताए अनुसार आरोपी उर्मिला अपने पति शिवकुमार को शौच के बहाने कुएं की ओर लेकर आई। रास्ते में कैलाश मिला और शिवकुमार कुशवाहा के सिर पर लाठी मारकर बेहोश कर दिया और फिर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी।

थाने में दर्ज कराई गुमशुदगी की रिपोर्ट
इसके बाद दोनों ने मिलकर मृतक के शरीर में तार के सहारे पत्थर बांधे और उसे कुएं में फेंक दिया। शव हो ठिकाने लगाने के बाद पत्नी कई दिनों तक चुप रही। फिर उर्मिला ने अपने पति शिवकुमार कुशवाहा के गुम होने की झूठी रिपोर्ट थाना सिंहपुर में 3 जनवरी 2021 को दर्ज कराई।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.