कुमाऊ में महिला अस्मत के चीरहरण के मामले बढे 2 महीनों में आए इतने मामले

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

कुमाऊं में महिलाओं के साथ हुए दुष्कर्म के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं कभी शांत राज्य के रूप में जाने जाने वाला उत्तराखंड अब महिला उत्पीड़न और दुराचार बलात्कार के मामले में नित्य नए रिकॉर्ड बनाते जा रहा है । पहले समूचे राज्य अथवा पर्वतीय जिले में कोई एक घटना घट जाती थी तो कई दिनों तक इन मामलों पर चर्चा में होती थी और लोग इन मामलों में आरोपी को काफी समय तक नफरत की दृष्टि से देखते थे और अपराध पर रोक लगती थी लेकिन अब सरेआम अपराध बढ़ते जा रहे हैं और अपराधी कानून से बचते हुए इन मामलों को अंजाम दे रहे हैं कुमाऊं में 2022 के पहले 2 महीने में 21 घटनाएं घट चुकी है जबकि वर्ष 2020 में सिर्फ 16 घटनाएं घटी थी वर्ष 2021 में यह आंकड़ा बढ़कर 30 हो गया।

कुमाऊं मंडल के पिथौरागढ़, नैनीताल तथा उधमसिंह नगर में महिलाओं के साथ अपराध का ग्राफ बढ़ा है। एक रिपोर्ट के अनुसार 2020 में जहां पूरे साल में केवल 16 मामले सामने आए थे, वहीं 2021 में यह आंकड़ा बढ़कर 30 हो गया। वहीं साल 2022 की बात करें तो दो माह में ही 21 महिलाओं से दुष्कर्म की घटनाएं आ चुकी हैं। कुमाऊं मंडल के 6 जिलों में से उधमसिंह नगर महिलाओं की सुरक्षा में सबसे फिसड्डी रही। इस मामले में डीआईजी कुमाऊं रेंज डॉ. निलेश आंनद भरणे, का कहना है कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए पुलिस हरसंभव प्रयासरत हैं और पुलिस अधिकारियों को महिला सुरक्षा के लिए विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं और लापरवाही बरतने पर कार्रवाई की जाएगी।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.